चंडीगढ़: पंजाब में कोरोना वायरस महामारी के बढ़ते मामलों के बीच स्कूल-कॉलेज 31 मार्च तक बंद रखने का आदेश जारी किया गया है. साथ ही कई जिलों में नाइट कर्फ्यू लागू कर दिया गया है. इससे पहले कल मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह ने नौ सबसे ज्यादा प्रभावित जिलों में रात का कर्फ्यू दो घंटे के लिए बढ़ाने की घोषणा की थी.
किन किन जिलों में नाइट कर्फ्यू लागू?
लुधियाना, जालंधर, पटियाला, मोहाली, अमृतसर, गुरदासपुर, होशियारपुर, कपूरथला और रूपनगर में रात ग्यारह से सुबह पांच बजे के बजाय अब रात नौ बजे से लेकर सुबह पांच बजे तक कर्फ्यू लगा रहेगा. इन जिलों में रोज कोरोना के 100 से ज्यादा मामले सामने आ रहे हैं.
कड़े कदम उठाने पड़ सकते हैं- सीएम अमरिंदर की चेतावनी
सीएम अमरिंदर सिंह ने कहा कि राज्य में कोरोना वायरस की स्थिति गंभीर है, ऐसे में यदि लोग कोविड उपयुक्त आचरण का पालन नहीं करते हैं तो कड़े कदम उठाने पड़ सकते हैं. उन्होंने कहा कि यह लोगों के लिए आसान नहीं होगा. लोग भले ही इसे पसंद न करे लेकिन यह मेरा कर्तव्य है. उन्होंने उम्मीद जतायी कि सभी पंजाबी सहयोग करेंगे और पाबंदियों का पालन करेंगे.
कोरोना नियमों का उल्लंघन करने वालों के खिलाफ जुर्माना- सीएम अमरिंदर
मुख्यमंत्री ने लोगों से अस्वस्थ होने पर डॉक्टर के पास जाने और खुद की जांच कराने की अपील की. उन्होंने सभी निवासियों से मास्क पहनने और शारीरिक दूरी बनाये रखने की भी अपील की. उन्होंने कोरोना नियमों का उल्लंघन करने वालों के खिलाफ जरूरत पड़ने पर जुर्माना लगाने की भी चेतावनी दी. सिंह ने उम्मीद जताई कि केंद्र सबसे अधिक प्रभावित क्षेत्रों में युवाओं का टीकाकरण करने संबंधी उनके सुझाव को स्वीकार करेगा.
महाराष्ट्र, केरल और पंजाब में संक्रमण के सबसे ज्यादा मामले
गौरतलब है कि तीन राज्यों- महाराष्ट्र, केरल और पंजाब में संक्रमण के सबसे ज्यादा मामले सामने आ रहे हैं. आज देश में कोरोना पिछले साल नवंबर के बाद से अब तक के सबसे ज्यादा करीब 40 हजार मामले दर्ज हुए हैं. देश में पिछले 24 घंटों में 39,726 मामले सामने आए हैं, जिससे अब मामलों की कुल संख्या 1,15,14,331 हो गई है. वहीं,154 लोगों की मौत हो गई.
कोरोना के कारण देश में अब तक 1,59,370 लोग मौत के मुंह में जा चुके हैं। मामलों और मौतों के अलावा सक्रिय मामलों की संख्या भी डराने वाली है, जो कुछ ही दिनों में बढ़कर 2,71,282 पर पहुंच गई है. एक दिन में 20,654 रोगियों के डिस्चार्ज होने के बाद अब तक कुल 1,10,83,679 लोग इस बीमारी से उबर चुके हैं.

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.