लखनऊ: लखनऊ विकास प्राधिकरण ने आज मोहनलालगंज क्षेत्र स्थित शाइन सिटी के दस एकड़ में फैली अवैध टाउनशिप के निर्माण को ध्वस्त कर दिया. लखनऊ विकास प्राधिकरण की यह कार्रवाई पिछले काफी समय से प्रस्तावित थी. शाइन सिटी ग्राहकों को सस्ते भूखंड का लालच देता था.
इसी तरीके से शाइन सिटी ने अरबों रुपए की संपत्ति इकट्ठा कर ली थी और अब शाइन सिटी के सभी संचालक फरार हैं. हालांकि इस मामले में मुकदमा दर्ज है और यूपी पुलिस उनकी तलाश कर रही है. बता दें, ध्वस्त की गई शाइन सिटी में अवैध प्लाटिंग की गई थी और ग्राहकों को झूठे सपने दिखाकर अरबों रुपए की संपत्ति इकट्ठा कर लिया था.
अवैध टाउन शिप पर हुई करवाई
शाइन सिटी ने मोहनलालगंज में अवैध टाउनशिप की पूरी तैयारी कर ली थी. जिसमें कई भूखंड की प्लाटिंग भी प्रस्तावित थी. 10 एकड़ में फैले इन भूखंडों में जमीनों के नकली कागजात बना कर ग्राहकों दिया गया था. ग्राहकों ने धोखाधड़ी का पता चलते ही पुलिस में मुकदमा दर्ज करवा दिया और उसके बाद से सभी संचालक साइन सिटी के फरार हो गए.
शाइन सिटी की अवैध टाउनशिप प्रोजेक्ट पर एलडीए ने बुल्डोजर चला दिया और निर्मित भवन को जेसीबी लगाकर तोड़ दिया गया. न्यू जेल रोड पर गोसाईगंज रेलवे क्रॉसिंग के पास मौजा खेड़ा सिल्वर सिटी पर ये एक्शन लिया गया है. ओएसडी एलडीए डीके सिंह की मौजूदगी में ये कार्रवाई की गई है.
शाइन सिटी की जांच को प्रवर्तन निदेशालय ने भी शुरु कर दी है. इस कंपनी पर मनी लांड्रिंग का केस दर्ज किया गया है. कंपनी पर आरोप है कि उसने झांसा देकर 35.54 करोड़ रुपए विदेश में निवेश किया है. निवेशकों को जो चेक दिए गए वो सभी बाउंस हो गए.
प्रवर्तन निदेशालय ने इसके खिलाफ मुकदमा दर्ज करते हुए तीन प्रबंध निदेशकों समेत 4 पर मुकदमा दर्ज किया है. शाइन सिटी के खिलाफ लखनऊ और प्रयागराज में कई पुलिस थानों में मुकदमा दर्ज है. जिसकी जांच चल रही है.

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.