पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव से ठीक पहले पहले राज्य की सत्ताधारी तृणमूल कांग्रेस से नेताओं के पार्टी छोड़ने का सिलसिला लगा हुआ है. टीएमसी के शीतल कुमार सरदार समेत पांच विधायक सोमवार को भारतीय जनता पार्टी में शामिल हो गए.
सोमवार को जिन टीएमसी नेताओं ने बीजेपी का दामन थाम है उनमें तृणमूल कांग्रेस के विधायक- सोनाली गुहा, दीपेन्दू बिस्वास, रबिन्द्रनाथ भट्टाचार्य, जटू लहिरी, शीतल कुमार सरदार और टीएमसी के हबीबपुर सराला मुर्मू से उम्मीदवार ने बीजेपी ज्वाइन कर लिया. इन सभी ने सोमवार को पश्चिम बंगाल बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष दिलीप घोष, शुभेंदु अधिकारी और मुकुल रॉय की मौजूदगी में बीजेपी का दामन थामा.
टीएमसी में पार्टी छोड़ने वालों का लगा तांता
रबिन्द्रनाथ भट्टाचार्य 2001 से सिंगुर विधानसभा सीट से टीएमसी के रहे विधायक है. इस बार 80 साल के ज़्यादा उम्र के किसी को टीएमसी ने टिकट नही दिया था और इसलिए रबिन्द्रनाथ भट्टाचार्य को टिकट नही मिला था. गौरतलब है कि पिछले दशक में हुई सिंगुर आंदोलन के प्रमुख चेहरों में से एक है रबिन्द्रनाथ भट्टाचार्य.

गौरतलब है कि पश्चिम बंगाल में 27 मार्च से 8 चरणों में विधानसभा का चुनाव होने जा रहा है. 294 सदस्यीय विधानसभा सीटों के लिए राज्य के चुनाव में उतरने वाले सियासी दल पूरी तरह से कमर कसकर मैदान में आ डटे हैं. बीजेपी जहां इस पर ममता बनर्जी की सरकार को उखाड़ फेंकने का लगातार दंभ भर रही है तो वहीं ममता की तरफ से महंगाई को लेकर लगातार केन्द्र सरकार को घेरा जा रहा है.
ममता बनर्जी को कोशिश जहां इस चुनाव में हैट्रिक लगाकर सत्ता में वापसी करने की है तो वहीं दूसरी तरफ बीजेपी लोकसभा चुनाव में राज्य के अंदर मिली शानदार जीत से उत्साहित वहां पर सरकार बनाने का सपना देख रही है.

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.