लखनऊः कोरोना वैक्सीनेशन के तीसरे चरण का दूसरा चक्र शुरू हो गया है. सुबह आठ बजे कोल्ड चेन प्वाइंट से अस्पतालों पर पुलिस सुरक्षा में वैक्सीन भेजी गयी. नौ बजे तक स्टाफ ने तैयारी कर ली. दस बजे से बुजुर्गों और बीमारी से पीड़ित शख्स का टीकाकरण शुरू हुआ. केजीएमयू में मंत्री आशुतोष टंडन और उनकी पत्नी ने टीका लगवाया. सरकारी अस्पताल में मुफ्त टीका होने की वजह से दोनों ने 5 सौ रुपये दान बॉक्स में डाल दिये.
छह दिन कोरोना का टीका लगवा सकेंगे लाभार्थी
राज्य में गुरुवार से टीकाकरण को रफ्तार मिली. अब लाभार्थी हफ्ते में छह दिन कोरोना का टीका लगवा सकेंगे. इसके लिये राज्य के 12 सौ सरकारी अस्पतालों में टीकाकरण की व्यवस्था की गयी है. इसमें जिला अस्पताल, सीएचसी, मेडिकल कॉलेज से लेकर पीएचसी तक को सेंटर बनाया गया है. वहीं आयुष्मान योजना से सम्बद्ध करीब 15 सौ निजी अस्पतालों में से 2 सौ अस्पतालों ने वैक्सीन सेंटर बनाने में फिलहाल रुचि दिखाई. धारे-धीरे सेंटरों की संख्या और बढ़ेगी. राज्य टीकाकरण अधिकारी डॉक्टर अजय घई के मुताबिक तीसरे चरण में 60 साल के बुजुर्ग और बीमारी से घिरे 45 साल से अधिक के लोगों में कोरोना वैक्सीन लगायी जा रही है. लखनऊ के टीकाकरण अधिकारी डॉक्टर एमके सिंह के मुताबिक जिले के 64 अस्पतालों में टीका लगना शुरू हो गया है. इसमें 51 सरकारी और 13 निजी अस्पताल हैं.
केंद्रों पर कब लगेगा टीका
– अब सभी जिला अस्पताल और मेडिकल कॉलेजों में सप्ताह में छह दिन टीका लगेगा. रविवार को अवकाश रहेगा.
– अन्य सरकारी केंद्रों पर सप्ताह में तीन दिन सोमवार, गुरुवार व शुक्रवार को टीकाकरण लगाया जायेगा.
– निजी अस्पताल में सप्ताह में कम से कम चार दिन टीकाकरण किया जायेगा.

मौके पर भी करा सकते हैं पंजीकरण

– लाभार्थी ऑनलाइन कोविड-एप या आरोग्य सेतु पर टीकाकरण के लिए पंजीकरण करा सकते हैं.
– पंजीकरण के वक्त सरकारी और निजी सेंटर को चुन सकते हैं. सरकारी में मुफ्त और निजी में टीका का 250 रुपये शुल्क लगेगा.
– सभी शहरी वैक्सीनेशन केंद्र पर 60 फीसदी स्लॉट ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन का रखा गया है. वहीं 40 फीसदी पंजीकरण मौके पर भी करने की सुविधा है.
– ग्रामीण क्षेत्रों में ये औसत 50-50 का होगा, यानि 50 फीसदी पंजीकरण मौके पर होंगे, हर साइट पर अधिकतम सौ लोगों को टीका लगाया जा सकेगा.
– वैक्सीनेशन का काम सुबह नौ बजे से शाम पांच बजे तक चलेगा. इस दौरान सभी केंद्रों पर चिकित्सा विभाग का एक नोडल ऑफिसर रहेगा. 60 साल से अधिक 1.97 करोड़ को अभी टीका लगेगा.

राजधानी के इन निजी अस्पतालों में लगवाएं टीका
लखनऊ में 13 प्राइवेट हॉस्पिटल में वैक्‍सीन लगाने की सुविधा की गई है. ये अजंता हॉस्पिटल, चंदन हॉस्पिटल, अपोलोमेडिक्स, टीएस मिश्रा हॉस्पिटल, डॉक्टर ओपी चौधरी हॉस्पिटल, शेखर हॉस्पिटल, राज चंद्र हॉस्पिटल, सुषमा हॉस्पिटल, एरा मेडिकल कॉलेज, मेयो मेडिकल कॉलेज, चरक हॉस्पिटल एंड रिसर्च सेंटर, विद्या हॉस्पिटल एंड ट्रॉमा सेंटर, रायबरेली रोड तथा सरस्वती हॉस्पिटल एंड रिसर्च सेंटर हैं.

शहर के इन सरकारी अस्पताल में लगवाएं टीका

लखनऊ के 51 सरकारी अस्पतालों को टीकाकरण के लिए चयनित किया गया है. इनमें केजीएमयू, पीजीआइ, बलरामपुर हॉस्पिटल, भाउराव देवरस हॉस्पिटल, लोहिया संस्थान, राम सागर मिश्रा हॉस्पिटल, डॉक्टर श्यामा प्रसाद मुखर्जी (सिविल) हॉस्पिटल, सीएचसी ऐशबाग, अर्बन सीएचसी चंदननगर, अलीगंज अर्बन सीएचसी, अर्बन सीएचसी फैजाबाद रोड, अर्बन सीएचसी नवल किशोर रोड, अर्बन सीएचसी रेड क्रॉस, अर्बन सीएचसी सिल्वर जुबली, अर्बन सीएचसी टुडिया गंज, बख्शी का तालाब, सीएचसी चिनहट, सीएचसी माल, सीएचसी गोसाईगंज, गुडंबा सीएचसी, इटौंजा सीएचसी, काकोरी सीएचसी, मलिहाबाद सीएचसी, मोहनलालगंज सीएचसी, नगराम सीएचसी, सरोजनी नगर सीएचसी, सुपर स्पेशलिस्ट सेंटर कैंसर हॉस्पिटल, वीरांगना अवंती बाई महिला चिकित्सालय, वीरांगना झलकारी बाई महिला चिकित्सालय, एल बी आर एन हॉस्पिटल, रानी लक्ष्मी बाई हॉस्पिटल, नॉर्दन रेलवे हॉस्पिटल, पीएचसी महोना, पीएचसी कठवारा, पीएचसी राजागढ़, पीएचसी कुम्हरावां, पीएचसी पूरब गांव, पीएचसी जुग्‍गौर, पीएचसी गंगागंज, पीएचसी कटरा बख्‍श, पीएचसी फतेहगंज, पीएचसी बड़ागांव, पीएचसी कसमंडी कला, पीएचसी रहीमाबाद, पीएचसी बजरगांव, पीएचसी ससपन, पीएचसी निगोहां, पीएचसी सिसेन्‍डी, पीएचसी हरौनी तथा पीएचसी नादर गंज (अमौसी) शामिल हैं।

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.