लखनऊ: केंद्र सरकार की जारी ईज ऑफ लिविंग की यानी जीवन जीने की सुगमता रिपोर्ट के अनुसार उत्तर प्रदेश भले ही देश के शीर्ष 10 शहरों में नहीं है, लेकिन यूपी के लिहाज से लखनऊ सबसे बेहतर है. 2018 में रिलीज की गई रिपोर्ट में लखनऊ की देशभर में रैंकिंग 73 थी जो अब और बेहतर होकर 26 हो गई है. जिस तरह से लखनऊ की रैंकिंग में सुधार आया है निश्चित रूप से राजधानी लखनऊ के लिए यह सकारात्मक संदेश है.
क्या कहते हैं नगर निगम के अधिकारी

नगर निगम के अपर नगर आयुक्त अमित कुमार का कहना है कि “जिस तरह से लखनऊ नगर निगम ने लखनऊ को साफ सुथरा बनाए रखने के लिए घर-घर कूड़ा उठाने की व्यवस्था करने के साथ-साथ सभी जोनल अधिकारियों को अपने-अपने क्षेत्रों में साफ-सफाई बरतने के निर्देश दिए हैं. लापरवाही बरतने पर इनके खिलाफ कार्रवाई करने का भी निर्देश दिया है. ऐसे में लखनऊ की रैंकिंग लगातार बढ़नी है और 2021 में होने वाले स्वच्छता सर्वेक्षण में भी लखनऊ नगर निगम को पहला स्थान दिलाना हम लोगों की प्राथमिकता है.

लखनऊ नगर निगम लखनऊ को साफ सुथरा बनाए रखने के लिए लगा हुआ है. ऐसे में लखनऊ नगर निगम अधिकारियों कर्मचारियों के साथ-साथ लखनऊ की जनता से भी लखनऊ को साफ सुथरा बनाए रखने की अपील कर रहा है, जिससे कि स्वच्छता सर्वेक्षण 2021 में लखनऊ नगर निगम को पहला स्थान दिलाया जा सके.

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.