लखीमपुर खीरी: जिले में गुरुवार को डीएम शैलेंद्र कुमार सिंह टीचर की भूमिका में नजर आए और उनकी पाठशाला में सैकड़ों की तादाद में छात्राएं शामिल हुईं. डीएम ने कहा कि बेटियां पूरी योग्यता को पहचान कर आगे बढ़ें, अगर मन में कोई शंका हो तो सवाल करें. अपना मार्ग और लक्ष्य तय करके आगे बढ़ें. डीएम ने छात्राओं को कंपटीटिव एग्जाम्स की तैयारी के टिप्स दिए. डीएम ने कहा कि लड़कियों को जिस भी क्षेत्र में जाना है वो पहले से तय करें और एक स्ट्रेटजी बनाकर मन लगाकर पढ़ाई करें.
बेटियों के सपने के लिए है अनन्त आकाश
डीएम एक अच्छे टीचर की तरह पूरे हॉल में घूमकर छात्राओं से रूबरू हुए. उन्होंने कहा कि आज बेटियां आसमान की ऊंचाइयां छू रही हैं और नेवी में समुंदर में पनडुब्बियां भी चला रही हैं. आईएएस, आईएफएस जैसे एक्जाम्स क्रैक कर रही हैं, सेना से लेकर डॉक्टर, इंजीनियर और टीचर की भूमिका भी बड़ी जिम्मेदारी और योग्यता से निभा रहीं हैं. अब बेटियों के सपनों की उड़ान के लिए अनन्त आकाश है. उन्होंने कहा कि सरकार की तमाम योजनाएं हैं, जिनसे परीक्षा की अच्छी तैयारी तक कराई जा रही है. कक्षा 12 की छात्राओं के लिए डीएम ने कहा कि उनके अगले 5 साल तपस्या के हैं, इन्हीं में बेटियों का भविष्य तय होना है. डीएम ने कहा कि आप जो दृढ़ निश्चय कर लेंगी वह होकर रहेगा, बस जरूरत है फोकस्ड होकर तैयारी करने की.
पाठशाला में डीएम के अलावा बीएसए बुद्धप्रिय सिंह ने भी छात्राओं को कंपटीटिव एक्जाम्स के लिए भी टिप्स दिए. उन्होंने कहा कि आप सब सौभाग्यशाली हैं कि आपको मिशन शक्ति में कैरियर काउंसलिग का अवसर मिला. उन्होंने कहा कि अपने बारे में आप सबसे अच्छा फैसला कर सकती हैं. जिला प्रोबेशन अफसर संजय निगम ने मिशन शक्ति के बारे में बताया. सहायक अध्यापिका रुपाली सिंह ने टीचर बनने की योग्यता और तैयारी के लिए टिप्स दिए. श्रद्धा सिंह ने पुलिस सेवा में अवसरों पर जानकारी दी. डॉक्टर एके चौधरी ने मेडिकल परीक्षा के बारे में विस्तार से बताया. चार्टेड एकाउंटेंट अनुराग तिवारी ने सीए की परीक्षा कैसे दी जाती है इसकी जानकारी दी. जिला विद्यालय निरीक्षक ओपी त्रिपाठी और सेवायोजन अधिकारी रत्नेश त्रिपाठी ने छात्राओं के प्रश्नों के उत्तर दिए.

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.