लखनऊ : विकास प्राधिकरण ने बुधवार को व्यावसायिक संपत्तियों की नीलामी की. इसमें 13 करोड़ की संपत्तियां नीलाम की गईं. इस दौरान इस पूरी प्रक्रिया को पारदर्शी बनाए रखने के लिए एलडीए के संयुक्त सचिव डीएम कटियार खुद मौजूद रहे. दोपहर 12 बजे के बाद शुरू हुई नीलामी प्रक्रिया शाम 6 बजे के बाद भी चलती रही.
क्या हुआ नीलाम और किसकी लगी सबसे बड़ी बोली
प्राधिकरण की तरफ से की गई नीलामी में 8 भूखंड और 312 दुकानें नीलामी के लिए रखी गईं थीं. इसमें सबसे पहले भूखंड की नीलामी के लिए बोलियां लगाई गईं. इसमें लोकल शॉप, रश्मि खंड, शारदा नगर मैसर्स, आरएस वेंचर को 24 हजार 640 प्रति वर्ग मीटर की जमीन को 31 हजार रुपये प्रति वर्ग मीटर की बोली पर नीलाम किया गया. लखनऊ के गोमतीनगर इलाके में दुकानों में सर्वोच्च बोली दुकान नंबर तीन विशेष खंड पर लगाई गई. यह 16 लाख 8 हजार से शुरू होकर 45 लाख एक हजार प्रति वर्गमीटर पर उर्मिला यादव के नाम नीलाम हुई. इस दुकान में 268 प्रतिशत बढ़ोतरी के रेट प्राप्त हुए.
दुकान संख्या 04 विशेष खंड को राजेंद्र यादव द्वारा 16 लाख 88 हजार 800 की प्रथमिक बोली की जगह इसकी नीलामी में 42 लाख एक हजार में हुई. सभी दुकानों में सबसे बड़ी बोली दुकान संख्या 08 कंचन मार्केट की लगी जिसे नीलम दीक्षित ने लिया. बेस प्राइस 76 हजार 800 की जगह यह दुकान 27 लाख 9 हजार 166 रुपये में नीलाम हुई.
एक वर्ष बाद हुई मैनुअल नीलामी
शाम तक चली नीलामी प्रक्रिया संयुक्त सचिव के नेतृत्व में संचालित की गई. वित्त नियंत्रक इस पूरी प्रक्रिया में शामिल रहे. उपाध्यक्ष द्वारा नीलामी प्रक्रिया का निरीक्षण भी किया गया. नीलामी में मुख्यत: गोमती नगर, कानपुर रोड, सीजी सिटी, टिकैत राय, प्रियदर्शनी, अलीगंज की दुकानें शामिल थी. इसमें लगभग 13 करोड़ तक का राजस्व प्राप्त होने की उम्मीद जताई जा रही है. कोरोना काल की वजह से एक वर्ष के बाद मैनुअल नीलामी कराई जा रही है.

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.