लखनऊ: मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने बजट सत्र के दौरान विधानसभा में कहा कि कोरोना को नियंत्रित करने का हर स्तर पर काम हो रहा है. हम एक एक जगह पर कोरोना संक्रमण के मामले ढूंढ रहे हैं और तेजी से जांच भी कराई जा रही है. उन्होंने आगे कहा कि इस समय सवा लाख से लेकर डेढ़ लाख तक जांच प्रतिदिन सरकार कराई जा रही है और सभी जांच फ्री में हो रही है. उन्होंने कहा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा है कि केंद्रीय कैबिनेट में 60 साल से ऊपर के लोगों को मार्च के प्रथम सप्ताह से वैक्सीन लगाने का काम प्रारंभ हो जाएगा.
सीएम ने कहा कि 15 मार्च के आसपास बाजार में भी टीका आ सकता है. जो लोग मार्केट से टीका खरीदकर लगाना चाहेंगे, उनके लिए भी यह व्यवस्था सुनिश्चित करने को लेकर गाइडलाइन तैयार हो रही है. हमारी सरकार व्यवस्थित रूप से सभी कार्यक्रमों को आगे बढ़ाने का काम कर रही है. उत्तर प्रदेश में देश के अंदर सबसे अधिक टीकाकरण करने का काम किया गया है. सीएम ने कहा कि आगे भी हम इस कार्यक्रम को इसी प्रकार से बढ़ाने का काम करेंगे.
कोरोना को नियंत्रित करने में किया अच्छा काम
सीएम ने कहा कि कोरोना के संकट काल में हमने बेहतर ढंग से काम किया और इस महामारी को नियंत्रित करने का काम किया गया. जब कोरोना के इलाज के लिए दिल्ली में कई लाख रुपए लिए जा रहे थे, तब हम उत्तर प्रदेश में नि:शुल्क इलाज कर रहे थे. मुख्यमंत्री ने कहा कि आज सुबह तक उत्तर प्रदेश में 2000 ही एक्टिव मरीज रह गए हैं और सभी लोग उपचारित होकर अपने घर पहुंच चुके हैं. सीएम ने कहा कि सभी अस्पतालों में आईसीयू, बेड और इमरजेंसी सेवाओं को बढ़ाया गया है. ऑक्सीजन, आईसीयू में बढ़ोतरी की गई है. सीएम ने कहा कि लॉकडाउन के समय अलग-अलग शहरों में फंसे छात्रों और अन्य लोगों को उनके घरों तक और प्रवासी मजदूरों को भी घर पहुंचाया गया है.
WHO ने की सरकार की तारीफ
मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि विश्व स्वास्थ्य संगठन की तरफ से उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा कोरोना वायरस को लेकर किए गए काम की सराहना भी की है. सीएम ने कहा कि उत्तर प्रदेश में 24 करोड़ की आबादी है. हमारे यहां कोविड-19 कुल 6 लाख 3 हजार 232 कोरोना वायरस से संक्रमित हुए थे. अभी तक जो पूरी तरह स्वस्थ होकर घर जा चुके हैं उनमें से 5 लाख 92 हजार 327 लोग हैं. प्रदेश में 8 हजार 723 लोगों की मौत कोरोना से हुई है.

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.