कानपुरः पंचायत चुनाव 2021 से पहले दलबदल का खेल शुरू हो गया है. कानपुर महानगर में पूर्व वरिष्ठ कांग्रेसी नेता प्रदीप मिश्रा ने हाथ का साथ छोड़ बीजेपी का दामन थाम लिया है. पंचायत चुनाव से पहले इस दल-बदल से ग्रामीण इलाकों में खासा फर्क पड़ेगा. प्रदीप मिश्रा का ग्रामीण अंचलों में अच्छा-खासा दबदबा माना जाता है.
BJP के हुए प्रदीप मिश्रा
कांग्रेस के पूर्व प्रदेश सचिव और पीसीसी सदस्य प्रदीप मिश्रा अपने समर्थकों के साथ बीजेपी में शामिल हो गये. कानपुर में आयोजित कार्यक्रम में पूर्व मंत्री प्रेमलता कटियार और उच्च शिक्षा राज्य मंत्री नीलिमा कटियार ने उन्हें पार्टी की सदस्यता दिलाई है.
शिक्षक पार्क में हुए समारोह के दौरान पूर्व मंत्री प्रेमलता कटियार ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की विकास परक और जन उपयोगी नीति को लोग अपना समर्थन देते रहे हैं. इसी कड़ी में प्रदीप मिश्रा जी भी राष्ट्र सेवा में समर्पित भाव से काम करने के लिए बीजेपी में शामिल हुये हैं. प्रदीप मिश्रा एक अच्छे नेता के साथ एक अच्छा व्यक्तित्व हैं. बीजेपी को उनके आने से और मजबूती मिलेगी.
आपको बता दें कि प्रदीप मिश्रा पीसीसी सदस्य के साथ ही पूर्व प्रदेश सचिव कांग्रेस भी रह चुके हैं. उन्हें ग्वालियर के महाराज ज्योतिरादित्य सिंधिया का काफी करीबी माना जाता है. प्रदीप मिश्रा के दल-बदलने की चर्चा से राजनीतिक सरगर्मियां तेज रहीं. उन्होंने कहा कि कांग्रेस पार्टी अपने उदेश्यों से भटक गयी है.

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.