बागपत: बागपत में घर का मामूली विवाद इतना गहरा गया कि पति ने क्रोध में आकर अपनी पत्नी व बेटी को गला दबाकर मौत के घाट उतार दिया. घटना के बाद आरोपी सीधा कोतवाली पहुंच गया और पुलिस के सामने बोला कि पत्नी और बेटी की हत्या कर आया हूं, ”मुझे गिरफ्तार कर लो’ और मां-बेटी के शव उठा लाओ”. यह सुनकर पुलिस घटनास्थल की ओर दौड़ पड़ी.
कैंसर की बीमारी से जूझ रहा था गुलफाम
बागपत कोतवाली क्षेत्र के गायत्रीपुरम मोहल्ले का रहने वाला गुलफाम हेयर कटिंग की दुकान करता है. गुलफाम कैंसर की बीमारी से ग्रस्त है. गुलफाम ने तीन निकाह किए. पहली पत्नी आसमा के बच्चा पैदा नहीं हुआ. कैंसर की बीमारी होने का पता चलने पर वह पति गुलफाम को छोड़कर चली गई थी. गुलफाम ने दूसरा निकाह रेशमा नाम की महिला से किया. उसके एक बेटी आयत पैदा हुई. कुछ समय बाद रेशमा अपनी बेटी को पति गुलफाम के पास छोड़कर चली गई थी.
बीती रात हुआ था झगड़ा
तकरीबन डेढ़ साल पहले गुलफाम ने तीसरा निकाह महिला मुस्कान निवासी मोहल्ला ईदगाह मुरादाबाद, गाजियाबाद से किया था. मुस्कान वतर्मान में गर्भवती थी. रात के समय मुस्कान और गुलफाम का किसी बात पर घरेलू झगड़ा हो गया. इसके बाद आग बबूला हुए गुलफाम ने पत्नी मुस्कान व चार वर्षीय बेटी आयत की गला दबाकर हत्या कर दी और कोतवाली पहुंच गया. जानकारी मिलने पर सीओ मंगल सिंह रावत पुलिस के साथ घटनास्थल पर पहुंचे और जांच के बाद मां बेटी के शवों को कब्जे में लिया गया. पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार कर घटना की जांच शुरू कर दी है.
 

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.