नई दिल्ली: सर्वदलीय बैठक में पीएम नरेंद्र मोदी ने कहा कि किसान सरकार से एक कॉल की दूरी पर हैं, वो कभी भी बात कर सकते हैं. पीएम मोदी की इस बात पर प्रतिक्रिया देते हुए भारतीय किसान यूनियन के प्रवक्ता राकेश टिकैत ने उनका धन्यवाद किया. टिकैत ने कहा कि वो पीएम मोदी का धन्यवाद करते हैं क्योंकि उन्होंने किसानों को संज्ञान में लिया.
इसके साथ ही उन्होंने कहा कि सरकार और किसानों के बीच प्रधानमंत्री संवाद करवाएं. राकेश टिकैत ने कहा, ” मेरे आंसू तो निकले ले, वह किसान के आंसू थे. न सरकार का सिर झुकने देंगे न किसान की पगड़ी झुकने देंगे. हमारे लोगों पर अगर पत्थर चलेंगे तो किसान भी वही है और ट्रैक्टर भी वही है.”
शिव कुमार कक्काजी बोले- हम बातचीत से कभी पीछे नहीं हटे
वहीं किसान नेता शिव कुमार कक्काजी ने भी इस प्रतिक्रिया दी. जब उनसे सवाल किया गया कि क्या आप सरकार से बातचीत करेंगे, इस पर उन्होंने कहा कि हम जरूर बात करेंगे. अगर वो एक कॉल की दूरी पर हैं तो हम तो रिंग की दूरी पर हैं. वो जिस दिन घंटी कर दें हम उस दिन पहुंच जाएंगे. बातचीत से ही हल निकलना चाहिए. उससे हम पीछे नहीं हो रहे हैं. बातचीत करने से कभी हमने गुरेज नहीं किया है. प्रधानमंत्री ने बातचीत के लिए कहा है तो हम इसका स्वागत करते हैं.
पीएम मोदी ने सर्वदलीय बैठक में क्या कहा?
पीएम मोदी ने यह भी कहा कि तीन कृषि कानूनों को लेकर केंद्र सरकार ने जो प्रस्ताव दिया था वो आज भी बरकरार है. उन्होंने कहा कि कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर प्रदर्शनकारी किसानों से सिर्फ एक फोन कॉल की दूरी पर हैं. अगर किसान चाहते हैं तो बात कर सकते हैं. पीएम ने कहा कि सरकार ने वार्ता के दौरान जो पेशकश की थी, अभी भी उस पर कायम है.

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.