लखनऊ। वाणिज्य कर विभाग की ओर से शुक्रवार को खंड 18 के ठाकुरगंज क्षेत्र में पंजीयन जागरूकता शिविर का आयोजन किया गया। जागरूकता शिविर में आए व्यापारियों को नए पंजीयन लेने की प्रक्रिया रिटर्न दाखिल करने के तरीके व अन्य जानकारियों को अधिकारियों ने सरल तरीके से समझाया। शिविर में व्यापारियों को सरकार द्वारा पंजीकृत व्यापारियों को दी जा रही आर्थिक सुरक्षा यानी दस लाख तक के निशुल्क दुर्घटना बीमा की भी जानकारी दी गई।  वाणिज्य कर विभाग की ओर से डिप्टी कमिश्नर खंड-18 पंकज कुमार वाणिज्य कर अधिकारी अशोक मिश्रा, ज्योति वर्मा, निरीक्षक राघवेंद्र प्रताप सिंह व अन्य अधिकारियों ने व्यापारियों को जीएसटी पंजीयन से संबंधित जानकारी विस्तार से दी।
डिप्टी कमिश्नर पंकज कुमार ने बताया कि पंजीकृत होते ही व्यापारी का बीमा हो जाता है, जिसका कोई भी प्रीमियम व्यापारी को नहीं देना होता है। वाणिज्य कर अधिकारी अशोक मिश्र ने बताया कि डेढ़ करोड़ वार्षिक कारोबार तक के छोटे व मध्यम वर्ग के व्यापारियों के लिए समाधान योजना भी उपलब्ध है, जिन व्यापारियों को जीएसटी रिटर्न को लेकर कुछ भ्रांतियां थी उन्हें बताया गया कि छोटे व मध्यम वर्ग के व्यापारियों के लिए अत्यंत सरल रिटर्न फॉर्म सरल एवं सुगम शून्य बिक्री से संबंधित रिटर्न एसएमएस के माध्यम से भी दाखिल करने की सुविधा जीएसटी में है।
वाणिज्य कर निरीक्षक राघवेन्द्र प्रताप सिंह ने व्यापारियों को बताया कि 5 करोड़ तक  कारोबार सीमा के व्यापारियों के लिए तिमाही रिटर्न की सुविधा जीएसटी में दी गई है साथ ही उन्होंने व्यापारियों की सभी शंकाओं का निवारण करते हुए यह भी बताया कि मीराबाई मार्ग स्थित वाणिज्य कर कार्यालय में हेल्पडेस्क शुरू की गई है। हेल्प डेस्क मैं व्यापारियों को प्रतिदिन सुबह 10:00 से शाम 5:00 बजे तक शंकाओं का समाधान किया जा रहा है। पंजीयन जागरूकता शिविर में ठाकुरगंज व्यापार मंडल की ओरे से विशेष सहयोग किया गया। अध्यक्ष प्रवीण निगम कक्का ने शिविर से एक दिन पूर्व ही सभी व्यापारियों को सूचित कर दिया था जिससे बड़ी संख्या में व्यापारी शिविर में आये। व्यापारी कपूर जी, सी पी गुप्ता उपाध्यक्ष, परवेज भाई, श्याम जी निगम, अमित गुप्ता, पंकज किचन, गप्पु भाई,मनोज भाई घटां वाले होटल, मनीष निगम, अनिल निगम, अंकुर कुमार, जमाल भाई, अफजल भाई सहित बड़ी संख्या में व्यापारी एकत्र हुए।
 
जीएसटी में पंजीयन के मुख्य लाभ
-पंजीकृत व्यापारियों के लिए 10 लाख का दुर्घटना बीमा।
-देश के किसी भी राज्य से खरीदे गए माल पर आईटीसी की सुविधा।
-छोटे व मझोले व्यापारियों को सरल रिटर्न फॉर्म सहज एवं सुगम।
– शून्य खरीद बिक्री से संबंधित रिटर्न एसएमएस के माध्यम से दाखिल करने की सुविधा।

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.