टीम इंडिया के दो स्टार ऑलराउंडर क्रुणाल और हार्दिक पांड्या के पिता का निधन हो गया है। जिसके बाद बड़ौदा की कप्तानी कर रहे क्रुणाल सैयद मुश्ताक अली ट्रॉफी के बायो बबल को छोड़कर घर वापस लौट गए हैं। बताया जा रहा है कि हार्दिक और क्रुणाल के पिता का निधन कार्डिक अरेस्ट आने की वजह से हुआ है। क्रुणाल का प्रदर्शन अबतक इस टी-20 टूर्नामेंट में काफी शानदार रहा था। उन्होंने भारत की घरेलू टी-20 लीग के पहले मैच में ही 76 रनों की शानदार पारी खेली थी। हालांकि, उनके भाई हार्दिक पांड्या सैयद मुश्ताक अली टूर्नामेंट में हिस्सा नहीं ले रहे हैं और वह इंग्लैंड के खिलाफ होने वाली लिमिटेड ओवर सीरीज के लिए तैयारी कर रहे हैं।
एएनआई के साथ बातचीत करते हुए बड़ौदा क्रिकेट एसोशिएशन के सीईओ ने बताया, ‘हां, क्रुणाल पांड्या बायो बबल को छोड़कर वापस घर चले गए हैं। यह एक निजी ट्रेजडी है और बड़ौदा क्रिकेट एसोशिएशन इस बात से शोक में है।’ क्रुणाल पांड्या को सैयद मुश्ताक अली टूर्नामेंट में इस सीजन की बड़ौदा टीम की कप्तानी सौंपी गई थी और शुरुआती मैचों में उन्होंने बल्ले और गेंद दोनों से ही बेहतरीन प्रदर्शन किया था। उनकी कप्तानी में टीम ने अभी तक तीनों ही मैचों में जीत दर्ज की है।
हार्दिक पांड्या और क्रुणाल पांड्या का प्रदर्शन आईपीएल 2020 में काफी शानदार रहा था। हार्दिक की कुछ विस्फोटक पारियों के दम पर मुंबई की टीम रिकॉर्ड पांचवीं बार आईपीएल का खिताब अपने नाम करने में सफल रही थी। हार्दिका ने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ लिमिटेड ओवर सीरीज में भी बल्ले से बेहतरीन प्रदर्शन किया था और टी-20 सीरीज में अहम भूमिका निभाई थी। हालांकि, उनके पीठ की समस्या को देखते हुए उन्हें टेस्ट सीारीज के लिए टीम में नहीं चुना गया था।

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.