प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से कोच्चि-मंगलुरु प्राकृतिक गैस पाइपलाइन का उद्घाटन किया। इस अवसर पर केंद्रीय पेट्रोलियम और प्राकृतिक गैस मंत्री धर्मेंद्र प्रधान के साथ कर्नाटक और केरल के राज्यपाल और मुख्यमंत्री उपस्थित रहे। नरेंद्र मोदी ने अपने संबोधन में कहा कि कोच्चि – मंगलुरु पाइप लाइन इस बात का बहुत बड़ा उदाहरण है कि विकास को प्राथमिकता देते हुए सभी मिलकर काम करें, तो कोई भी लक्ष्य कठिन नहीं होता। प्रधानमंत्री ने कहा कि इस प्रोजेक्ट में कई दिक्कतें भी आईं, लेकिन हमारे श्रमिकों, इजीनियरों, किसानों और राज्य सरकारों के सहयोग से ये पाइप लाइन पूरी हुई। कहने को तो ये पाइप लाइन है, लेकिन दोनों राज्यों के विकास को गति देने में इसकी बहुत बड़ी भूमिका होने वाली है।

मोदी ने आगे कहा कि यह सिर्फ एक पाइपलाइन नहीं है, बल्कि यह दोनों राज्यों में विकास का एक प्रमुख चालक हो सकता है। भारत आज गैस आधारित अर्थव्यवस्था पर ध्यान केंद्रित कर रहा है और  वन नेशन, वन ग्रिड पर काफी काम किया जा रहा है। गैस आधारित अर्थव्यवस्था भी आत्मानिभर भारत के लिए महत्वपूर्ण है। इस पाइप लाइन का फायदा बताते हुए मोदी ने कहा कि ये पाइप लाइन दोनों राज्यों में लाखों लोगों के लिए ईज ऑफ लिविंग बढ़ाएगी। दूसरा ये पाइप लाइन दोनों ही राज्यों के गरीब, माध्यम वर्ग और उद्यमियों के खर्च कम करेगी। तीसरा ये पाइप लाइन शहरों में सिटी गैस डिस्ट्रब्यूशन सिस्टम का माध्यम बनेगी। चौथा, ये अनेक शहरों में सीएनजी आधारित ट्रांस्पोर्ट सिस्टम को विकसित करने का माध्यम बनेगी।

मोदी ने पांचवा बताते हुए कहा कि ये मैंगलोर कैमिकल और फर्टिलाइजर प्लांट को ऊर्जा देगी, कम खर्च में खाद बनाने में मदद करेगी। छठा ये पाइप लाइन मैंगलोर रिफाइनरी और पेट्रो कैमिकल को ऊर्जा देगी, स्वच्छ ईंधन देगी। 7वां फायदा, ये दोनों ही राज्यों में प्रदूषण कम करेगी। 8वां, प्रदूषण कम करने का सीधा असर पर्यावरण पर होगा। 9वां, पर्यावरण बेहतर होने से लोगों की सेहत अच्छी होगी। 10वां, जब प्रदूषण कम होगा, शहरों में गैस आधारित सेवा होगी, तो टूरिज्म को भी बढ़ावा मिलेगा।

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.