नयी दिल्ली। केंद्रीय कृषि कानूनों के विरोध में किसानों का विरोध प्रदर्शन चल रहा है और इसी मुद्दे को लेकर केंद्र सरकार के साथ किसान संगठनों की बातचीत शुरू हो गई है। अभी तक सात दौर की वार्ता हो चुकी है और आठवें दौर की वार्ता दिल्ली के विज्ञान भवन में जारी है।
बता दें कि किसान संगठनों की चार मुद्दों को लेकर केंद्र सरकार के साथ वार्ता चल रही है और सातवें दौर में दो मुद्दों पर सहमति बन गई थी लेकिन दो महत्वपूर्ण मुद्दों पर आज चर्चा होनी है। जिसमें न्यूनतम समर्थन मूल्य (एमएसपी) कानून और तीनों कानूनों की वापसी अहम है।
मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, सरकार-किसान वार्ता की शुरुआत से पहले विरोध प्रदर्शन के दौरान जान गंवाने वाले किसानों के लिए केंद्रीय मंत्रियों ने दो मिनट का मौन रखा। इस बैठक में सरकार की तरफ से वार्ता के लिए केंद्रीय कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर, पीयूष गोयल और सोम प्रकाश मौजूद हैं।
पिछले एक महीने से जारी किसान आंदोलन में शामिल 60 किसानों की मौत हो चुकी है। वार्ता से पहले भारतीय किसान संघ के प्रवक्ता राकेश टिकैत ने बताया था कि आंदोलन में अब तक 60 किसानों की मौत हो चुकी है। हर 16 घंटे में एक किसान अपनी जान गंवा रहा है। सरकार की जिम्मेदारी है कि वह जवाब दें।

उल्लेखनीय है कि केंद्र सरकार ने स्पष्ट कर दिया था कि वह कृषि कानूनों को वापस नहीं लेने वाली है लेकिन किसानों की बेहतरी के लिए वह इसमें संशोधन जरूर कर सकती है। इसीलिए सरकार किसान संघों के साथ बातचीत कर सभी मसलों को सुलझाने में जुटी हुई है।

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.