बॉलीवुड अभिनेता अर्जुन रामपाल की ड्रग्स केस में मुसीबतें बढ़ती नजर आ रही हैं. एनसीबी के मुताबिक अर्जुन रामपाल ने जो दवाई का प्रिस्क्रिप्शन एनसीबी को दिया था उसकी तारीख में छेड़छाड़ किये जाने का शक है. डॉक्टर को एनसीबी के बारे में नही पता था इसलिए प्रिस्क्रिप्शन लिखकर दिया था. एनसीबी ने डॉक्टर का स्टेटमेंट भी रिकॉर्ड किया. डॉक्टर का बयान एनसीबी और कोर्ट के सामने सीआरपीसी की धारा 164 के तहत दर्ज किया है.
अर्जुन के घर से जो दवाई मिली थी उसका नाम ‘Clonazepam’ बताया जा रहा है. डॉक्टर ने NCB को बताया कि अर्जुन रामपाल के एक रिश्तेदार ने उन्हें एक कॉमन फ्रेंड की मदत से अप्रोच किया और उन्हें बताया गया कि उसे (महिला न कि अर्जुन रामपाल) ANXIETY की परेशानी है और एनसीबी वाली बात न बताते हुए पिछली तारीख वाला प्रिस्क्रिप्शन लिखवा लिया और वह (महिला) को ANXIETY की परेशानी है इसलिए मैंने प्रिस्क्रिप्शन दे दिया.
एनसीबी सूत्रों की माने तो एनसीबी के सवाल जवाब से बचने के किये अर्जुन रामपाल ने उसी प्रिस्क्रिप्टशन का इस्तेमाल किया था। उन्हें आज फिर उसी मामले से जुड़े सवालों के जवाब के लिए दूसरी बार बुलाया गया है. आपको बता दें कि या दवाई एनडीपीएस की ‘एच’ कैटेगरी में आती है जिसका इस्तेमाल करने के लिए डॉक्टर के प्रिस्क्रिप्शन जरूरी है. सूत्रों की माने तो एनसीबी ने इसके अलावा मुंबई के एक डॉक्टर का बयान भी दर्ज किया है जिसमे रामपाल को वही गोली प्रिस्क्राइब की थी.

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.