राजधानी लखनऊ में रविवार शाम को प्रधान पति और मोहनलालगंज व्यापार मंडल के अध्यक्ष सुजीत कुमार पाण्डेय (52) की गोली मारकर हत्या कर दी गई। घटना के वक्त पाण्डेय एसयूवी में बैठकर अपने ईंट भट्ठे से बाहर निकल रहे थे। तभी बाइक सवार बदमाशों ने सफारी गाड़ी के अंदर ही ताबड़तोड़ फायरिंग शुरू कर दी। गोली लगने के बाद पाण्डेय जान बचाकर गाड़ी से उतर भट्ठे के अंदर दौड़े। लेकिन बदमाशों ने पीछे से उन पर फिर गोलियां चलायी। सुजीत को मेदान्ता अस्पताल ले जाया गया था जहां डॉक्टरों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया। उनके तीन गोलियां लगीं।
घटना शाम करीब साढ़े पांच बजे गौरा पेट्रोल पम्प के पास हुई। प्रत्यक्षदर्शियों के अनुसार सुजीत कुमार ने बदमाशों से मुकाबला करने के लिए अपनी पिस्टल निकाल ली थी। लेकिन वह बदमाशों पर गोली नहीं चला सके। वहीं गोलियों की आवाज सुनकर भट्ठे पर काम कर रहे मजदूरों ने बदमाशों पर पथराव भी किया लेकिन तब तक हमलावर फरार हो गये। फिलहाल पुलिस पुलिस कई बिन्दुओं पर पड़ताल कर रही है।
सुजीत कुमार पाण्डेय प्रधान भी रह चुके हैं और इस समय इनकी पत्नी संध्या प्रधान हैं। सुजीत रोजाना की तरह शाम पांच बजे अपने भट्ठे सुजीत ब्रिक फील्ड जा रहे थे। अपनी सफारी गाड़ी से वे भट्ठे के गेट के पास पहुंचे ही थे कि बाइक सवार दो युवक उनकी ड्राइविंग सीट की तरफ आये। कुछ समझने से पहले ही हमलावरों ने उन पर फायरिंग शुरू कर दी। शीशे को तोड़ती हुई तीन गोलियां उन्हें जा लगीं। एक गोली सीने को भेदती हुई निकल गई जबकि दो गोलियां हाथ और कुहनी पर लगीं।
पुलिस कमिश्नर डीके ठाकुर ने कहा कि अपने ईंट भट्ठे के पास बाईक सवार बदमाशों ने सुजीत पांडे को गोली मारी है। व्यापार मंडल अध्यक्ष सुजीत पांडे के शव में एक गोली का निशान मिला।मौके से कारतूसों के आठ खोखे बरामद हुए हैं।. 4 खोखे 9 एमएम और 4 खोखे 32 बोर के हैं। सुजीत पांडे भी लाइसेंसी पिस्टल रखते थे, लेकिन वे फायर नहीं कर सके। शुरुआती जांच में ये रंजिश के लिए हत्या का मामला लगता है। उधर हत्याकांड के विरोध में व्यापारियों ने सोमवार को बंदी का ऐलान किया है।

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.