दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने शनिवार को कहा कि ऐसा लग रहा है कि दिल्ली में COVID-19 की तीसरी लहर अब समाप्त हो रही है। दिल्ली में आज प्रतिदिन लगभग 90,000 टेस्ट किए जा रहे हैं। यह देश में टेस्ट की सबसे अधिक संख्या है।
केजरीवाल ने कहा कि दिल्ली ने पूरे देश में कोरोना की सबसे ज्याद मुश्किल लड़ाई लड़ी। पिछले कुछ दिनों से दिल्ली में कोरोना की तीसरी लहर चल रही थी। ऐसा लगता है कि हम सब दिल्ली वालों ने मिलकर कोरोना की तीसरी लहर पर काफी हद तक काबू पा लिया है। हमने दिल्ली में सबसे ज्यादा जोर टेस्ट करने पर दिया, आज दिल्ली में रोज करीब 90,000 टेस्ट हो रहे हैं। अमेरिका में हर 10 लाख की आबादी पर 4,300 टेस्ट हो रहे हैं और दिल्ली में 4,500 टेस्ट हो रहे हैं।
जब न्यूयॉर्क में एक दिन में 6300 केस आए थे, उस समय वहां के अस्पतालों में अफरा-तफरी का माहौल था, लेकिन दिल्ली में 8600 केस आने के बाद भी कोई अफरा-तफरी का माहौल नहीं था। उस दिन हमारे पास 7000 बेड्स खाली थे। ये सब दिल्ली के बेहतर कोविड मैनेजमेंट का नतीजा था।
मुख्यमंत्री ने कहा कि एक समय ऐसा था नवंबर में जब हम 100 लोगों का टेस्ट करते थे तो 15.6% लोग पॉजिटिव निकलते थे, आज ये आंकड़ा 1.3% पर आ गया है। आज जो रिपोर्ट आएगी उसमे 87 हजार टेस्ट में से केवल 1133 लोग पॉजिटिव आए हैं। आज दिल्ली में हर दिन 4500 टेस्ट प्रति मिलियन हो रहे हैं। वहीं उत्तर प्रदेश में हर दिन 670 टेस्ट प्रति मिलियन हो रहे हैं। गुजरात में हर दिन 800 टेस्ट प्रति मिलियन हो रहे हैं।
केजरीवाल ने कहा कि दिल्ली ने पूरी दुनिया को कोरोना से लड़ने के लिए नई तकनीक और नए तरीके दिए हैं। प्लाज्मा थेरेपी, होम आइसोलेशन और कोरोना वॉरियर्स के शहीद होने पर उनके परिवार को 1 करोड़ की राशि इसी के कुछ उदाहरण हैं। मैं आज दिल्ली के सभी लोगों को और कोरोना वॉरियर्स को धन्यवाद देता हूं। साथ ही सभी धार्मिक, सामाजिक और सरकारी संस्थानों का भी सहयोग के लिए धन्यवाद करता हूं। अभी भी लड़ाई खत्म नहीं हुई है। जब तक कोरोना की दवाई नहीं आती, हम सभी को सावधानी बरतनी होगी।

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.