नई दिल्ली: शेयर बाजार में तेजी का रुख बना हुआ है. सेंसेक्स शुक्रवार को कारोबार के दौरान 47000 का स्तर भी छू चुका है. वहीं इस हफ्ते सबसे ज्यादा चर्चा में जो शेयर रहा वो ‘बर्गर किंग’ है. बर्गर किंग के शेयर की 14 दिसंबर को लिस्टिंग हुई थी. वहीं अपनी लिस्टिंग के बाद 4 दिन के अंदर ही बर्गर किंग का शेयर निवेशकों को साढ़े तीन गुना से भी ज्यादा का रिटर्न दे चुका है. हालांकि बर्गर किंग का शेयर एक बार फिर से शुक्रवार को भी लोअर सर्किट पर ही रहा.
गुरुवार को बर्गर किंग की शुरुआत तेजी के साथ हुई थी. बर्गर किंग के शेयर ने 200 का स्तर पार करते हुए अपना ऑल टाइम हाई बना दिया था. हालांकि दिन खत्म होते-होते बर्गर किंग के शेयर में गुरुवार को 10 फीसदी का लोअर सर्किट लग गया. इस लोअर सर्किट का सिलसिला शुक्रवार को भी जारी रहा. भारतीय शेयर बाजार में शुक्रवार के कारोबार में बर्गर किंग के शेयर में सेलर्स हावी रहे.
बर्गर किंग का शेयर शुक्रवार सुबह से ही 10 फीसदी की गिरावट के साथ लोअर सर्किट पर दिखा. एनएसई पर बर्गर किंग का शेयर 17.50 अंक टूटकर 157.50 रुपये और बीएसई पर 17.90 अंक टूटकर 161.45 रुपये पर रहा. यह लगातार दूसरा दिन है जब बर्गर किंग के शेयर में 10 फीसदी का लोअर सर्किट लगा है. वहीं इससे पहले बर्गर किंग के शेयर में जबरदस्त तेजी देखने को मिली थी. आईपीओ में जिन निवेशकों को शेयर मिले, गुरुवार तक उनका पैसा साढे तीन गुना से भी ज्यादा बढ़ चुका था.
बर्गर किंग के आईपीओ इश्यू का प्राइज 59-60 रुपये का था. जिसके बाद उसकी लिस्टिंग धमाकेदार तरीके से 115.35 रुपये पर हुई थी. इसके बाद गुरुवार के कारोबार तक बर्गर किंग का शेयर बढ़कर एनएसई पर 213.80 रुपये और बीएसई पर 219.15 रुपये का हाई बना चुका था. बता दें कि बर्गर किंग के आईपीओ को निवेशकों की तरफ से बंपर रिस्पॉन्स मिला था.
आईपीओ को बढ़िया रिस्पॉन्स
आईपीओ के दौरान कंपनी के शेयरों की रिटेल निवेशकों में जबरदस्त मांग दिखी. रिटेल इंडिविजुअल इनवेस्टर वाला हिस्सा 37.84 गुना सब्सक्राइब्ड हुआ जबकि क्यूआईबी यानी क्वालिफाइड इंस्टीट्यूशनल बायर्स वाला हिस्सा 2.70 गुना सब्सक्राइब हुआ. नॉन इंस्टीट्यूशनल इनवेस्टर वाला हिस्सा 3.61 गुना सब्सक्राइब हुआ.

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.