अयोध्या: नव्य अयोध्या को धनुष के आकार में वैदिक सिटी के रूप में विकसित किए जाने की तैयारी की जा रही है. इसके लिए सात डीपीआर भी तैयार किया गया है. ग्यारह सौ एकड़ में तैयार होने वाली नव्य अयोध्या में होटल, हॉस्पिटल, मठ, मंदिर, स्कूल रहने के लिए आवासीय प्लॉट, आवासीय कॉलोनी और तमाम तरीके की सुविधाएं उपलब्ध की जाएंगी. अयोध्या के समग्र विकास योजनाओं को लेकर मुख्य सचिव राजेंद्र तिवारी समीक्षा की.

नव्य अयोध्या का विकास

अयोध्या के समग्र विकास के लिए अयोध्या विकास प्राधिकरण ग्लोबल कंसलटेंट की नियुक्ति के लिए विज्ञापन भी जारी किया है. अयोध्या के समग्र विकास योजनाओं को लेकर मुख्य सचिव राजेंद्र तिवारी ने पहले समीक्षा की, उसके बाद मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ भी समीक्षा कर सकते हैं. अयोध्या विकास प्राधिकरण के वीसी और अयोध्या नगर निगम के नगर आयुक्त विशाल सिंह को लखनऊ बुलाया गया था.

ग्लोबल कंसलटेंट अयोध्या में नियुक्त किया जाएगा

मुख्य सचिव राजेंद्र तिवारी ने अयोध्या के समग्र विकास योजनाओं में अभी तक क्या हुआ है, इसको लेकर एडीए के उपाध्यक्ष विशाल सिंह को लखनऊ बुलाया था. उपाध्यक्ष विशाल सिंह का कहना है की अयोध्या के समग्र विकास को लेकर अयोध्या विकास प्राधिकरण ने अंतरराष्ट्रीय कंसलटेंट का सहयोग लेने के लिए एक विज्ञापन जारी किया है. जल्द ही ग्लोबल कंसलटेंट अयोध्या में नियुक्त किया जाएगा.

अयोध्या के 153 स्क्वायर किलोमीटर के विकास क्षेत्र को विकसित करने का काम

अयोध्या के 153 स्क्वायर किलोमीटर के विकास क्षेत्र को विकसित करने का काम किया जाएगा. अयोध्या में चल रही विकास की योजनाओं को एक दूसरे से जोड़कर अयोध्या का विकास किया जाएगा. अयोध्या के विकास में पौराणिक महत्व को ध्यान में रखकर योजनाएं बनाई गई हैं. अयोध्या को अंतरराष्ट्रीय कल्चरल कैपिटल टूरिस्ट हब के रूप में विकसित किया जाएगा. अयोध्या की सरयू नदी के किनारे 1100 एकड़ में नव्य अयोध्या का निर्माण किया जा रहा है. इसके लिए अयोध्या विकास प्राधिकरण और आवास विकास परिषद मिलकर संयुक्त रूप से कार्य कर रहा है.

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.