कोलकाता: भारतीय जनता पार्टी अध्यक्ष जेपी नड्डा के काफिले पर गुरुवार को हुए हमले के बाद भारतीय जनता पार्टी आक्रामक मुद्रा में आ चुकी है। भारतीय जनता पार्टी की पश्चिम बंगाल इकाई के अध्यक्ष दिलीप घोष ने सोशल मीडिया पर एक पोस्ट डाला है जिसमें उन्होंने टीएमसी सरकार और ममता बनर्जी को एक तरह से सीधे चुनौती दी है और धमकी भरे अंदाज में कहा है कि उनकी सरकार आने पर सूद समेत पूरा हिसाब किया जाएगा। दिलीप घोष ने अपने सोशल मीडिया पोस्ट में कहा है, “मैं बोल रहा हूं मारिए, उतना ही मारिए जितना बाद में आप हजम कर सकें। लाल डायरी में सबकुछ लिखकर रख रहा हूं, सूद समेत वापस देंगे, बदलेगा भी और बदला भी लेंगे।”
गौरतलब है कि पश्चिम बंगाल में तृणमूल कांग्रेस के कथित कार्यकर्ताओं ने बृहस्पतिवार को भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जे पी नड्डा के काफिले पर हमला किया। भगवा दल के नेताओं और प्रत्यक्षदर्शियों ने कहा कि हमले में वरिष्ठ भाजपा नेता कैलाश विजयवर्गीय सहित कई लोग घायल हो गए। नाराज नड्डा ने हमले को ‘अभूतपूर्व’ करार दिया और आरोप लगाया कि राज्य में कानून व्यवस्था की स्थिति पूरी तरह चरमरा गई है तथा यह ‘‘गुंडा राज’’ में तब्दील हो गया है।
उन्होंने यह भी कहा कि हिंसा से ममता बनर्जी सरकार की ‘‘हताशा’’ झलकती है। वहीं, पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने हमले को नाटक करार दिया। बनर्जी ने कोलकाता में कहा, ‘‘वे (भाजपा कार्यकर्ता) हर दिन हथियारों के साथ (रैलियों के लिए) आते हैं। वे खुद को थप्पड़ मार रहे हैं और इसका आरोप तृणमूल कांग्रेस पर लगा रहे हैं। जरा स्थिति के बारे में सोचिए। वे बीएसएफ, सीआरपीएफ, सेना और सीआईएसएफ के साथ घूम रहे हैं…तो फिर आप इतने भयभीत क्यों हो।’’
मुख्यमंत्री के भतीजे एवं डायमंड हार्बर से सांसद अभिषेक बनर्जी ने हालांकि दावा किया कि यह जनता का गुस्सा था क्योंकि भाजपा मुसीबत के समय लोगों के साथ खड़ी नहीं रही। तृणमूल कांग्रेस की युवा इकाई के प्रमुख ने आरामबाग में एक रैली में कहा, ‘‘नड्डा डायमंड हार्बर में आज परेशानी में थे। मैं इसमें क्या कर सकता हूं? लोगों के गुस्से का फूटना मेरी जिम्मेदारी नहीं है। लॉकडाउन, जीएसटी और नोटबंदी की वजह से हुई कठिनाइयों के बावजूद भाजपा लोगों के साथ खड़ी दिखाई नहीं दी।’’ रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह और गृह मंत्री अमित शाह सहित कई केंद्रीय मंत्रियों तथा पश्चिम बंगाल के राज्यपाल जगदीप धनखड़ ने घटना की निन्दा की।

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.