लखनऊ: यूपी में बेसिक शिक्षा विभाग के 69 हजार सहायक अध्यापकों की भर्ती प्रक्रिया के तहत 36 हजार 590 शिक्षकों को नियुक्ति पत्र वितरित किए गए. 31 हजार अभ्यर्थियों को सरकार पहले ही नियुक्ति दे चुकी है. मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने शनिवार को अपने सरकारी आवास पर आयोजित कार्यक्रम में कुछ अभ्यर्थियों को नियुक्ति पत्र दिए हैं. वहीं जिलों में कार्यक्रम आयोजित कर नियुक्ति पत्र वितरित किया गया है.

साढ़े तीन लाख सरकारी नौकरी दी गई

सीएम योगी ने कहा कि इसके साथ ही उनकी सरकार में साढ़े तीन लाख सरकारी नौकरी की प्रक्रिया पूरी हो चुकी है. इसके बाद अब सरकार बेसिक शिक्षा से लेकर अन्य विभागों के रिक्त पदों पर भर्ती के लिए दूसरी प्रक्रिया शुरू करेगी. सीएम ने नवनियुक्त शिक्षकों को उनके परिजनों को और मित्रों को बधाई एवं शुभकामनाएं दी. इस दौरान सीएम योगी ने पुरानी सरकारों की व्यवस्था को कटघरे में खड़ा किया और नवनियुक्त शिक्षकों को गुरुमंत्र भी दिए.

लोकतंत्र में ईमानदारी से काम करना चुनौती

लोकतांत्रिक व्यवस्था में ईमानदारी से काम करना बड़ी चुनौती बन जाता है. जनवरी 2019 में यह हमारी प्रक्रिया पूरी हो चुकी थी, लेकिन कोई न कोई व्यक्ति न्यायालय पहुंच जाता था. तमाम लड़ाई के बाद यह फैसला हुआ कि हमारे लिए यह नियुक्ति प्रक्रिया पूरी पारदर्शी तरीके से संपन्न करना इसलिए भी जरूरी था, क्योंकि प्रदेश की बेहतर छवि का संदेश बाहर जाना चाहिए.

राष्ट्रीय शिक्षा नीति की एक-एक प्रति उपलब्ध कराई जाएगी

सीएम योगी ने शिक्षकों से अपील करते हुए कहा कि आप में से बहुत सारे शिक्षक ग्रामीण क्षेत्र में जाएंगे. वहां आपको माहौल देना होगा. प्रधानमंत्री ने कोविड-19 के दौरान देश को बचाया और बिना भेदभाव किए शासन की योजनाओं को हर लोगों तक पहुंचाने का काम किया. रोजगार सृजन का भी काम किया. राष्ट्रीय शिक्षा नीति की एक-एक कॉपी सभी शिक्षकों को उपलब्ध जरूर कराई जाए. इसके लिए बेसकी शिक्षा अधिकारियों को निर्देश दिए. शिक्षक इसे जरूर पढ़ें. शिक्षा को दायरे में बांधकर नहीं रख सकते. हर साल इन शिक्षकों को अलग से प्रशिक्षण दिया जायेगा.

आप पढ़ाएंगे तो तस्वीर बदल जाएगी

हरदोई की चयनित अभ्यर्थी एमएससी बीएड ललिता त्रिपाठी से बात करते हुए कहा कि आप जैसे उच्च शिक्षा हासिल करने वाले लोग यदि पूरी तन्मयता से पढ़ाएंगे तो बच्चों का भविष्य सुंदर होगा. यह सच्ची देश सेवा होगी. रामपुर की चयनित अभ्यर्थी से बात करते हुए सीएम योगी ने कहा कि प्राइमरी एजुकेशन में पढ़ाने वालों की जिम्मेदारी बड़ी होती है. यदि सभी 69 हजार शिक्षक पूरी निष्ठा के साथ पढ़ाएंगे तो यूपी के बेसिक शिक्षा की तस्वीर बदल जाएगी. ज्ञान की परंपरा थमनी नहीं चाहिए. निरन्तर ज्ञान की की खोज में शिक्षकों को लगे रहना चाहिए. बच्चों को भी वह शिक्षा देनी चाहिए.

दो साल तक ट्रांसफर के लिए एप्लिकेशन नहीं

सीएण योगी ने कहा कि दुनिया कोरोना से जूझ रही थी. हमारी सरकार आपके लिए कोर्ट में लड़ रही थी. अब आपको नौकरी मिल गयी है तो तीसरे दिन से ही ट्रांसफर के लिए एप्लिकेशन नहीं देंगे. दो साल तक ऐसा कतई नहीं करना है. आज योग्य शिक्षकों की नियुक्ति हो रही है. सीएम योगी ने सभी 36 हजार 590 नवनियुक्त शिक्षकों को बधाई दी.

बेसिक शिक्षा विभाग के कार्यालय और स्कूल मंदिर की तरह हों

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि पढ़ाई के लिए बेहतर माहौल जरूरी है. इसलिए सबसे पहले बेसिक शिक्षा विभाग को अपने कार्यालयों को और फिर स्कूलों को मंदिर की तरह बनाना चाहिए. सीएम योगी ने बेसिक शिक्षा विभाग के कार्यालय में स्वच्छ एवं सुंदर माहौल बनाने के लिए कहा है. उन्होंने कहा कि शिक्षकों को आसपास के गांव में जाकर बच्चों और अभिभावकों से बात करनी चाहिए. उन्हें पढ़ने के लिए प्रेरित करें. कोविड से बचाव के बारे में जानकारी दिया जाए. शिक्षक का काम कभी समाप्त नहीं होता. कुछ घंटे के लिए नहीं बल्कि 24 घंटे के लिए शिक्षक होते हैं.

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.