ब्रिटेन के बाद बहरीन महामारी के खिलाफ वैक्सीन के आपातकालीन इस्तेमाल की मंजूरी देनेवाला दुनिया का दूसरा देश बन गया है. अमेरिकी दवा निर्माता कंपनी फाइजर और सहयोगी जर्मन बायोनटेक की विकसित कोविड-19 वैक्सीन के आपातकालीन इस्तेमाल की औपचारिक मंजूरी दे दी है.
ब्रिटेन के बाद बहरीन बना दुनिया का दूसरा देश
बहरीन की सरकारी संवाद एजेंसी की रिपोर्ट के मुताबिक, ‘‘उपलब्ध आंकड़ों के गहन विश्लेषण और समीक्षा के बाद बहरीन की स्वास्थ्य नियामक एजेंसी ने शुक्रवार रात आपातकालीन वइस्तेमाल की इजाजद दे दी है.’’ हालांकि, बहरीन ने यह नहीं बताया कि उसने वैक्सीन की कितनी खुराक खरीदी है और टीकाकरण कब शुरू होगा. एसोसिएटेड प्रेस के सवाल का भी बहरीन के नियामक अकारियों ने तत्काल कोई जवाब नहीं दिया. बाद में फाइजर ने बताया कि बहरीन को वैक्सीन की आपूर्ति और खुराकों की संख्या सहित बिक्री का समझौता गुप्त है. उसने भी विस्तृत टिप्पणी करने से इनकार कर दिया।
कोविड वैक्सीन के आपातकाल इस्तेमाल पर मुहर
गौरतलब है कि बहरीन पहले ही चीन निर्मित वैक्सीन ‘साइनोफार्म’ के आपातकालीन प्रयोग की मंजूरी दे चुका है और अबतक 6 हजार लोगों को वैक्सीन लगाया जा चुका है. गौरतलब है कि फाइजर की कोविड-19 वैक्सीन को स्टोर करने के लिए लगभग -70 डिग्री सेल्सियस का तापमान चाहिए. फाइजर का दावा है कि तीसरे चरण के मानव परीक्षण के अंतिम विश्लेषण में वैक्सीन को 95 फीसदी तक असरदार पाया गया है. ब्रिटिश नियामक एमएचआरए ने बताया था कि 95 फीसदी तक सुरक्षा प्रदान करने वाली वैक्सीन लोगों के बीच उपलब्ध कराए जाने के लिए तैयार है. उच्च प्राथमिकता वाले समूहों में लोगों के टीकाकरण की प्रक्रिया कुछ ही दिनों में शुरू की जाएगी.

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.