महाराष्ट्र में भाजपा को बड़ा झटका लगा है। यहां एमएलसी के 6 सीटों पर हुए चुनाव में सत्ताधारी महा विकास आघाड़ी ने 4 सीटें जीत ली है। धुले नंदुरबार की 1 सीट को भाजपा जीतने में कामयाब रही है जबकि एक सीट अमरावती में मतगणना जारी है जिस पर निर्दलीय विधायक आगे चल रहे हैं। हैरानी की बात तो यह है कि भाजपा अपने दो गढ़ पुणे और नागपुर भी नहीं बचा सकी है। पुणे स्नातक सीट से एनसीपी के अरुण लाड और औरंगाबाद की स्नातक सीट से सतीश चह्वाण ने जीत हासिल की हैष कांग्रेस के जयंत दिनकर ने पुणे डिवीजन की सीट पर बाजी मारी है वहीं नागपुर डिवीजन की सीट भी कांग्रेस के खाते में गई है।

नागपुर सीट का कांग्रेस के खाते में जाना भाजपा के लिए बड़ा झटका माना जा सकता है क्योंकि यहां पिछले 5 दशकों से भाजपा और आरएसएस का गढ़ रहा है। महाराष्ट्र भाजपा के बड़े नेता और पूर्व मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस भी इसी इलाके से आते हैं। चुनावी परिणामों पर बयान देते हुए महाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने कहा कि चुनाव के नतीजे हमारी उम्मीद के मुताबिक नहीं है। हम ज्यादा सीटों की उम्मीद कर रहे थे लेकिन सिर्फ हमें एक सीट ही मिली है। उन्होंने इस बात को स्वीकार किया कि तीन पार्टी के साथ आने से ऐसा हुआ है। उन्होंने यह भी कहा कि हम इस हार का आकलन करेंगे और कहां गलती हुई है इसको सुधरेंगे। उन्होंने शिवसेना पर तंज कसते हुए भी कहा कि जिस पार्टी के मुख्यमंत्री हैं, उसे कोई सीट नहीं मिली है।

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.