चीन के साथ एलएसी पर तनाव मई के महीने से ही जारी है। दूसरी तरफ पाकिस्तान भी अपने नापाक इरादे से घुसपैठ की फिराक में लगा रहता है। ऐसे में नौसेना दिवस से ठीक एक दिन पहले भारतीय नौसने प्रमुख एडमिरल करमबीर सिंह ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर बताया कि देश के सामने कोरोना और सीमा पर चीन से निपटने का चैलेंज है और नौसेना दोनों मुकाबले के लिए पूरी तरह तैयार है।
भारतीय नौसेना प्रमुख एडमिरल करमबीर सिंह ने कहा कि भारतीय नौसेना परीक्षा की इन घड़ियों में मजबूती से डटे रहने के लिए दृढ़ संकल्पित है। दक्षिणी सीमाओं पर यथास्थिति को बदलने की कोशिशें और कोविड-19 का खतरा नई चुनौतियां हैं। नौसेना प्रमुख ने चीन से मिल रही चुनौतियों से निपटने पर कहा कि हम जो भी कर रहे हैं, वह सेना और भारतीय वायु सेना के साथ समन्वय बना के कर रहे हैं। नौसेना प्रमुख ने यह बातें नेवी डे के एक दिन पहले प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान कहीं। नेवी डे हर साल 4 दिसंबर को मनाया जाता है।
उत्तरी सीमा पर हेरोन ड्रोन तैनात 
नौसेना प्रमुख ने बताया कि हमने सेना और भारतीय वायु सेना की आवश्यकता पर विभिन्न स्थानों पर पी -8 आई विमान तैनात किए हैं। इसके अलावा, हमने उत्तरी सीमाओं पर हेरोन निगरानी ड्रोन तैनात किए हैं।
दो प्रीडेटर ड्रोन के जरिए निगरानी
नौसेना प्रमुख ने कहा कि लीज पर लिए गए 2 दो प्रीडेटर ड्रोन हमारी निगरानी में क्षमता अंतर को पूरा करने में हमारी मदद कर रहे हैं। 24 घंटे निगरानी क्षमता हमें निरंतर निगरानी क्षमता प्राप्त करने में मदद कर रहे हैं।

 

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.