भारत में कोविड-19 के उपचाराधीन मरीजों की संख्या उल्लेखनीय रूप से घटकर 4.28 लाख रह गई है जो कि 132 दिन के बाद सबसे कम है तथा संक्रमण के कुल मामलों का मात्र 4.51 प्रतिशत है। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने बुधवार को यह जानकारी दी। मंत्रालय के अनुसार 23 जुलाई को उपचाराधीन मरीजों की संख्या4,26,167 थी।
मंत्रालय ने कहा कि उपचाराधीन मरीजों की संख्या में लगातार गिरावट देखने को मिली है। पिछले तीन दिन से देश में प्रतिदिन कोविड-19 के 30,000 के आसपास मामले सामने आ रहे हैं। पिछले चौबीस घंटे में संक्रमण के 36,604 नए मामले सामने आए। इस दौरान कोविड-19 के कुल 43,062 मरीज ठीक हो गए। मंत्रालय ने कहा कि पिछले पांच दिन में ठीक होने वालों की संख्या, प्रतिदिन सामने आने वाले संक्रमण के नए मामलों से ज्यादा हो गई है।
मंत्रालय ने कहा कि इससे ठीक होने वाले मरीजों की दर में भी सुधार हुआ है और अब यह 94.03 प्रतिशत है। अब तक कुल 89,32,647 मरीज ठीक हो चुके हैं। ठीक होने वाले मरीजों की संख्या में से 78.35 प्रतिशत लोग दस राज्यों और संघ शासित प्रदेशों के हैं। महाराष्ट्र में एक दिन में सर्वाधिक 6,290 मरीज ठीक हुए। केरल में 6,151 और दिल्ली में 5,036 लोग ठीक हुए।
मंत्रालय ने कहा कि संक्रमण के नए मामलों में से 77.25 प्रतिशत दस राज्यों और संघ शासित प्रदेशों के हैं। केरल में संक्रमण के एक दिन में सर्वाधिक 5,375 नए मामले सामने आए और इसकेबाद4930 नए मामलों के साथमहाराष्ट्र का नंबर रहा। इसके अलावा एक दिन में कोविड-19 से 501 मरीजों की मौत हो गई। मौत के नए मामलों में से 79.84 फीसदी 10 राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों से सामने आए हैं।
महाराष्ट्र में संक्रमण से सर्वाधिक 95 और लोगों की मौत हुई। जबकि दिल्ली और पश्चिम बंगाल में क्रमश 86 और 52 और मरीजों की संक्रमण से मौत हुई।केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय की ओर से बुधवार सुबह आठ बजे जारी किए गए अद्यतन आंकड़ों के अनुसार एक दिन में कोविड-19 के 36,604 नए मामले सामने आने के बाद देश में संक्रमण के मामले बढ़कर 94,99,413 हो गए। वहीं 501 और लोगों की मौत के बाद मृतक संख्या बढ़कर 1,38,122 हो गई।
जम्मू कश्मीर में कोविड-19 के 452 नए मामले, छह मरीजों की मौत
जम्मू-कश्मीर में बुधवार को कोविड-19 के 452 नए मामले सामने आए और पिछले 24 घंटे में छह लोगों की मौत हो गई। यह जानकारी अधिकारियों ने दी। अधिकारियों ने बताया कि केंद्रशासित प्रदेश में संक्रमितों की संख्या बढ़कर 1,11,130 हो गई है। वहीं, मृतकों की संख्या बढ़कर 1,708 हो गई है। अधिकारी ने बताया कि नए मामलों में से 258 मामले जम्मू संभाग से तथा 194 मामले कश्मीर घाटी से सामने आए हैं। अधिकारियों ने बताया कि जम्मू जिले में सबसे ज्यादा 127 नये मामले सामने आए जबकि श्रीनगर में 81 लोग संक्रमित पाये गए। उन्होंने बताया कि अब केंद्रशासित प्रदेश में 4,951 मरीजों का इलाज चल रहा है और अभी तक कुल 1,04,471 मरीज स्वस्थ हो चुके हैं। इस बीच, जम्मू-कश्मीर में पिछले 24 घंटे में छह लोगों की मौत हुई। इनमें से तीन मरीजों की मौत जम्मू में और तीन की मौत कश्मीर घाटी में हुई।
पश्चिम बंगाल के मंत्री कोलकाता में तीसरे चरण के परीक्षण में ‘कोवैक्सिन’ लेने वाले पहले स्वयंसेवक बने
पश्चिम बंगाल के शहरी विकास मंत्री फरहाद हकीम कोरोना वायरस के संभावित टीके ‘कोवैक्सिन’ के तीसरे चरण के चिकित्सकीय परीक्षण के तहत पहला टीका लिया। तीसरे चरण में टीका लेने वाले वह पहले स्वयंसेवक बन गए हैं। उल्लेखनीय है कि कोवैक्सिन का तीसरे चरण का नियामकीय परीक्षण कोलकाता स्थित आईसीएमआर – राष्ट्रीय हैजा और आंत्र रोग संस्थान (एनआईसीईडी) में शुरू हुआ।
टीका लेने के बाद 62 वर्षीय मंत्री ने संवाददाताओं से कहा, ‘‘ मैं भाग्यशाली महसूस कर रहा हूं कि मैं इस परीक्षण का हिस्सा बना हूं। टीका लेने के बाद में बिल्कुल ठीक हूं। मुझे फर्क नहीं पड़ता अगर इस परीक्षण के दौरान मेरी मौत भी हो जाती है।’’ हकीम ने कहा कि उन्हें खुशी होगी अगर उनके योगदान से टीके के अनुसंधान में मदद मिलती है। मंत्री को टीका देने से पहले उनका स्वास्थ्य परीक्षण किया गया ताकि पता चल सके कि उन्हें कोई गंभीर बीमारी तो नहीं है। इससे पहले राज्यपाल जगदीप धनखड़ ने संस्थान में कोवैक्सिन टीके के तीसरे चरण के नियामकीय परीक्षण का उद्घाटन किया।
कोविड-19 से भोपाल गैस कांड के 254 पीड़ितों की मौत, डाव केमिकल दे अतिरिक्त मुआवजा : संगठन
विश्व की भीषणतम औद्योगिक त्रासदी भोपाल गैस कांड की 36वीं बरसी की पूर्व संध्या पर इस त्रासदी के पीड़ितों के लिए काम कर रहे संगठनों ने दावा किया है कि कोरोना वायरस संक्रमण से भोपाल जिले में 18 अक्टूबर तक भोपाल गैस त्रासदी के 254 पीड़ितों की मौत हुई है। इस संगठनों ने कहा कि भोपाल में कोविड-19 से भोपाल गैस त्रासदी के पीड़ित लोगों की मृत्यु दर अन्य लोगों से करीब 6.5 गुना ज्यादा है।
इसलिए कोरोना वायरस महामारी से साबित हुए दूरगामी शारीरिक क्षति के लिए यूनियन कार्बाइड और उसके वर्तमान मालिक डाव केमिकल अतिरिक्त मुआवजा दें। हालांकि, भोपाल गैस त्रासदी राहत एवं पुनर्वास निदेशक बसंत कुर्रे ने कहा, ‘‘दो दिसंबर तक कोविड-19 से भोपाल जिले में कुल 518 लोगों की मौत हुई है, जिनमें से मात्र 102 लोग भोपाल गैस त्रासदी के पीड़ित थे।
भोपाल गैस त्रासदी पीड़ित जिन 102 लोगों की कोरोना वायरस संक्रमण से मौत हुई है, उनमें से 69 लोगों की उम्र 50 साल से अधिक थी, जबकि 33 लोगों की उम्र 50 साल से कम थी।’’ भोपाल गैस पीड़ितों के हितों के लिये लंबे अरसे से काम करने वाले संगठन ‘भोपाल ग्रुप फॉर इन्फॉर्मेशन एंड एक्शन’ की सदस्य रचना ढींगरा ने बुधवार को दावा किया, ‘‘भोपाल जिले में कोविड-19 की वजह से अब तक 518 मौत हुई है।
तमिलनाडु में कोविड-19 के 1,428 नए मामले, 11 मरीजों की मौत
तमिलनाडु में बुधवार को कोरोना वायरस के 1,428 नए मरीज सामने आए, जबकि 11 और संक्रमितों की मौत हो गई। स्वास्थ्य विभाग के बुलेटिन के मुताबिक, राज्य में संक्रमण के कुल मामले 7,84,747 हो गए हैं, जबकि मृतक संख्या 11,733 पर पहुंच गई है। बुलेटिन में बताया गया है कि 1,398 मरीजों को अस्पतालों से छुट्टी दी गई है। इसके बाद संक्रमण से मुक्त होने वाले मरीजों की कुल संख्या 7,62,015 हो गई है। वहीं राज्य में 10,999 लोग संक्रमण का उपचार करा रहे हैं।
कर्नाटक में कोविड-19 के 1,440 नये मामले, 16 मरीजों की मौत
कर्नाटक में बुधवार को कोरोना वायरस संक्रमण के 1,440 नए मामले सामने आये तथा 16 मरीजों की मौत हो गई। इसके साथ ही राज्य में संक्रमितों की कुल संख्या 8,87,667 पर पहुंच गई है, जबकि मृतकों की संख्या 11,808 हो गई। स्वास्थ्य विभाग द्वारा जारी नवीनतम बुलेटिन के अनुसार, आज 983 मरीजों को ठीक होने के बाद अस्पतालों से छुट्टी दे दी गई। राज्य मेंअब तक 8,51,690 लोग इस संक्रमण से मुक्त हो चुके हैं। विभाग के अनुसार, राज्य में अभी 24,150 मरीजों का इलाज चल रहा है। इनमें से 318 ‘आईसीयू’ में हैं। बेंगलुरु शहर में बुधवार को संक्रमण के 712 नये मामले सामने आये।

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.