नई दिल्ली। दो दिन पहले जम्मू के पास नगरोटा में मारे गए 4 आतंकवादियों के पाकिस्तान से तार जुड़े होने को लेकर भारत ने सख्ती जताई है और दिल्ली स्थित पाकिस्तान उच्चायोग के अधिकारियों को तलब किया है। भारतीय विदेश मंत्रालय ने पाकिस्तान उच्चायोग के अधिकारियों को इस घटना को लेकर तलब किया है और अपना विरोध व्यक्त किया है। ऐसे सबूत मिले हैं कि नगरोटा में मारे गए चारों आतंकवादी पाकिस्तान की सीमा से भारत में घुसे थे। साथ में आतंकवादियों के पास से ऐसा सामान मिला है जो पाकिस्तान में बनता है।
प्रधानमंत्री मोदी ने शुक्रवार को आतंकी संगठन जैश का नाम लेकर साफ कर दिया था कि पाकिस्तान के आतंकी संगठन आतंकियों को भारत में आतंक की वारदात के लिए भेज रहा है। आतंकवादियों से जो मोबाइल रेडियो सेट मिला है वह पाकिस्तान की माइक्रो इलेक्ट्रोनिक्स कंपनी का है यह  कंपनी पाकिस्तान के सुरक्षा बलों को रेडियो सेट मुहैया कराती है।
आतंकवादियों से जो सामान बरामद हुआ है उसकी जांच से  कई बड़े खुलासे हुए हैं, आतंकवादियों से एक ऐसा मोबाइल रेडियो सेट बरामद हुआ है जिससे पता चला है कि घुसपैठ के बाद पाकिस्तान में बैठे हैंडलर्स इन आतंकवादियों से पल पल की जानकारी ले रहे थे। इसके अलावा पाकिस्तान की कंपनी का स्मार्टफोन भी मिला है जिससे कई अहम सुराग मिल सकते हैं। खूफिया एजेंसियों ने खुलासा किया है कि आतंकियों की साजिश 2008 में हुए मुंबई के 26/11 आतंकी हमले जैसी थी।
मोबाइल रेडियो सेट जो मिला है उसमें कई ऐसे संदेश भी हैं जिनके जरिए पता चलता है कि पाकिस्तान में बैठे आतंकियों के आका भारतीय सीमा में घुसे आतंकियों के साथ संपर्क में थे। पाकिस्तान में बैठे आतंकी लगातार भारत में घुसे आतंकियों से पूछ रहे थे कि कहां पहुंचें हैं, क्या सूरते हाल है, कोई मुश्किल तो नहीं है?

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.