नई दिल्ली। कोरोना की थर्ड वेव के बाद दिल्ली में कोरोना इमरजेंसी के हालात बनते जा रहे हैं। किलर कोरोना आउट ऑफ कंट्रोल ना हो जाए, इसे लेकर अमित शाह की अगुवाई में गृह मंत्रालय फुल एक्शन में आ गया है, इस साल मई-जून में कोरोना के खिलाफ जंग में जैसे एक्शन लिए गए थे आज सरकार के लेवल पर वही प्लान अमल में लाया जा रहा है। गृह मंत्रालय ने दिल्‍ली को कोरोना से बचाने के लिए 10 टीमों का गठन का किया है जो 100 अस्‍पतालों का दौरा कर रही हैं।
इसके अलावा दिल्ली एयरपोर्ट के पास DRDO अस्पताल में 250 ICU बेड बढ़ाए गए हैं। सबसे बड़ा फैसला शकूरबस्‍ती रेलवे स्टेशन पर 800 बेड बढ़ाने का है, आइसोलेशन कोच बनाए गए रेल डिब्बों में पैरामिलिट्री फोर्स के डॉक्टर्स तैनात होंगे। इसके अलावा BEL ने दिल्ली के लिए 250 वेंटिलेटर भेजे हैं। दिल्ली में इस हफ्ते से डोर-टू-डोर सर्वे शुरू होगा जो 25 नवंबर तक चलेगा। सरकार नवंबर के आखिर तक दिल्ली में रोज 60 हजार RT-PCR टेस्ट करने की तैयारी कर रही है ताकि जल्द से जल्द पॉजिटिव मरीजों की ट्रेसिंग हो सके।
दिल्ली में अब शादियों में सिर्फ 50 लोग ही हो सकते हैं शामिल। दिल्ली सरकार ने केंद्र सरकार से मांगी थी इसकी अनुमति। इस पर केंद्र ने अपनी मंजूरी दे दी है। दिल्ली के उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने यह भी बताया कि दिल्ली में लॉकडाउन नहीं लगाया जाएगा लेकिन लोगों को भीड़ में इकट्ठा होने से रोकना होगा। मंगलवार को दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा था कि उन्होंने केंद्र को प्रस्ताव भेजा है जिसमें कहा गया है कि दिल्ली में कुछ मार्केट्स में उन्हें लॉकडाउन लगाने की अनुमती दी जाए। लेकिन आज दिल्ली सरकार ने इस पर यूटर्न लेते हुए कहा है कि दिल्ली में लॉकडाउन नहीं लगाया जाएगा।

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.