वाशिंगटन. अमेरिका के पूर्व राष्ट्रपति बराक ओबामा ने कहा है कि भारत के प्रति उनके दिन में एक विशेष स्थान है क्योंकि वे रामायण और महाभारत सुनकर बड़े हुए हैं। बराक ओबामा ने अपनी किताब ‘A Promised Land’ में यह बात कही है। बराक ओबामा ने अपनी किताब में लिखा है कि उनका बचपन इंडोनेशिया में बीता है और वे वहीं पर रामायण और महाभारत की ऋचाएं सुनकर बड़े हुए हैं।
भारत की प्रशंसा करते हुए बराक ओबामा ने अपनी किताब ‘A Promised Land’ में लिखा है कि भारत बहुत बड़ा देश है और यहां पर दुनिया की कुल आबादी का छठा हिस्सा रहता है और 2000 से ज्यादा संप्रदाय हैं तथा 700 से ज्यादा भाषाएं बोली जाती है। ओबामा ने कहा है कि वे 2010 में राष्ट्रपति बनने से पहले कभी भी भारत नहीं गए थे लेकिन भारत के प्रति उनकी सोच में एक विशेष स्थान है।
अपनी किताब में इससे आगे ओबामा लिखते हैं, हो सकता है कि यह सब (भारत के प्रति विशेष स्थान) इसलिए हो क्योंकि मैने इंडियोनेशिया में अपना बचपन रामायण और महाभारत की ऋचाएं सुनते हुए बिताया है, या फिर इसलिए कि मेरी  रुचि पूर्वी क्षेत्र में है, या फिर इसलिए कॉलेज में भारतीय और पाकिस्तानी मित्रों के एक ग्रुप की वजह से जिन्होंने मुझे दाल और कीमा बनाना सिखाया और वॉलीबुड फिल्मों की तरफ मेरा ध्यान खींचा।”
“A Promised Land” में बराक ओबामा ने 2008 में अमेरिकी राष्ट्रपति चुनाव से शुरू हुई अपनी यात्रा से लेकर राष्ट्रपति बनने तक और अपने पहले कार्यकाल में पाकिस्तान के एबटाबाद में जाकर ओसामा बिन लादेन को मारने तक की घटनाओं का जिक्र किया है। ओबामा की किताब “A Promised Land” का यह पहला आज जारी हो रहा है और दूसरा संस्करण भी जल्द आ सकता है।

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.