वाशिंगटन. अमेरिका में हुए राष्ट्रपति चुनाव के विजेता जो बाइडन ने 20 से अधिक भारतवंशियों को अपनी ‘एजेंसी रिव्यू टीम’ (आर्ट) में शामिल किया है जिनमें से तीन टीम का नेतृत्व करेंगे। यह टीम प्रमुख संघीय एजेंसियों की मौजूदा प्रशासन में कार्यप्रणाली की समीक्षा करेगी ताकि सत्ता का हस्तांतरण सुचारु रूप से सुनिश्चित किया जा सके।

बाइडन की हस्तांतरण टीम ने कहा कि अब तक के राष्ट्रपति हस्तांतरण टीम के इतिहास में यह टीम सबसे अधिक विविधता लिए हुए है। अमेरिका में सत्ता हस्तांतरण के लिए बनाई गई आर्ट टीम में सैकड़ों सदस्य हैं जिनमें से आधी से अधिक महिलाएं हैं, 40 प्रतिशत उन समुदायों से हैं जिनका संघीय सरकार में ऐतिहासिक रूप से कम प्रतिनिधित्व रहा है, इनमें गैर श्वेत, एलजीबीटी और विकलांग शामिल हैं।

टीम के मुताबिक स्टैनफोर्ड विश्वविद्यालय के अरुण मजूमदार ऊर्जा विभाग में सत्ता हस्तांतरण के लिए बनाई गई आर्ट का नेतृत्व करेंगे। वहीं राहुल गुप्ता राष्ट्रीय औषधि नियंत्रण नीति के मामले में नेतृत्व करेंगे। किरण आहूजा को कार्मिक प्रबंधन को लेकर बनी टीम की कमान सौंपी गई है। पुनीत तलवार को विदेश विभाग से जुड़ी टीम में जगह दी गई है। पाव सिंह को राष्ट्रीय सुरक्षा परिषद और विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी की टीम में नामित किया गया है। इसी प्रकार अरुण वेंकटरमण को वाणिज्य और यूएसटीआर मामलों की दो टीमों में शामिल किया गया है।

अन्य प्रमुख भारतवंशियों जिन्हें बाइडन की आर्ट में शामिल किया गया है, वे हैं प्रवीण राघवन और आत्मन त्रिवेदी वाणिज्य विभाग मामले की टीम में , शिक्षा विभाग में शीतल शाह, ऊर्जा विभाग में आर रमेश और रामा जाकिर, आतंरिक सुरक्षा विभाग संबंधी टीम में शुभश्री रामनाथन, न्याय विभाग के लिए राज डे, श्रम विभाग के लिए सीमा नंदा और राजनायक, फेडरल रिजर्व और बैंकिंग व प्रतिभूति नियामक मामलों के लिए रीना अग्रवाल और सत्यम खन्ना, नासा के लिए भव्या लाल, राष्ट्रीय सुरक्षा परिषद के लिए दिलप्रीत सिद्धू, प्रबंधन एवं बजट कार्यालय के लिए दिव्य कुमारियाह, कृषि विभाग के लिए कुमार चंद्रण और पोस्टल सेवा के लिए अनीष चोपड़ा। आर्ट में सभी सदस्य स्वयंसेवी के तौर पर शामिल किए गए हैं।

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.