मध्य प्रदेश की 28 सीटों पर हुए उपचुनाव के लिए मतगणना जारी है। शुरुआती रुझानों में ऐसा लग रहा है कि शिवराज सिंह चौहान अपनी सरकार बचा लेंगे क्योंकि भाजपा 18 सीटों पर बढ़त बनाई हुई है। शिवराज सरकार के लगभग ज्यादातर मंत्री अपनी-अपनी सीटों पर आगे हैं। मध्य प्रदेश के उप चुनाव पर सबसे ज्यादा नजरें ज्योतिरादित्य सिंधिया के टिकी थीं।
कांग्रेस छोड़ भाजपा में शामिल होने के बाद मध्यप्रदेश में कमलनाथ की सरकार गिरी और शिवराज की सरकार बनी थी। ऐसे में अगर ज्योतिरादित्य सिंधिया और उनके समर्थक विधायकों की जीत होती है तो जाहिर सी बात है कि सिंधिया का कद भाजपा में तो बढ़ेगा ही, साथ ही साथ उन्हें केंद्रीय मंत्रिमंडल में भी जगह मिल सकती है।

 

ग्वालियर चंबल क्षेत्र में ज्यादातर सीटें हैं। इन क्षेत्रों को ज्योतिरादित्य सिंधिया का गढ़ माना जाता है। लेकिन कमलनाथ ने भी कांग्रेस को जिताने के लिए इन क्षेत्रों में जी तोड़ मेहनत की थी। भाजपा के कई केंद्रीय मंत्री और सीएम शिवराज सिंह चौहान भी इन उपचुनाव में दम खम लगया था। सबकी निगाहें ज्योतिरादित्य सिंधिया की ही तरफ थी। ज्योतिरादित्य सिंधिया इस जीत के साथ ही अपने क्षेत्र में अपना दबदबा दिखाने में भी कामयाब हुए।

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.