वॉशिंगटन: अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के दामाद तथा उनके वरिष्ठ सलाहकार जेरेड कुशनर ने चुनाव में डेमोक्रेटिक पार्टी के नेता जो बाइडेन से करीबी मुकाबले में मिली हार को स्वीकार करने के सिलसिले में ट्रंप से बातचीत की है। रविवार को मीडिया में आईं खबरों में यह बात कही गई है। ट्रंप ने इससे पहले एक बयान में कहा था कि बाइेडन ”जल्दबाजी में गलत तरीके से खुद को विजेता बता रहे हैं” और चुनावी दौड़ ”अभी खत्म नहीं हुई है।” ट्रंप के उस बयान के बाद कुशनर ने उनसे मुलाकात की है।
ट्रंप के दामाद जेरेड कुशनर और पत्नी मेलानिया चाहते हैं कि ट्रंप अपनी हार को स्वीकार करें। कुशनर ट्रंप को मनाने के लिए व्हाइट हाउस भी गए थे, लेकिन उन्हें निराशा हाथ लगी. डोनाल्ड ट्रंप इस मामले में कुछ भी सुनने को तैयार नहीं हैं। कहा तो यह भी जा रहा है कि बेटी इवांका ट्रंप भी अपने पिता के अड़ियल रुख से खफा हैं।
जो बाइडेन और कमला हैरिस के चुनाव अभियान के उप अभियान प्रबंधक केट बेडिंगफील्ड ने कहा कि बाइडेन और ट्रंप के बीच कोई संवाद नहीं हुआ है और न ही दोनों के प्रतिनिधियों के बीच कोई बातचीत हुई है। सीएनएन ने दो अज्ञात सूत्रों के हवाले से कहा है कि कुशनर ने हार स्वीकार करने के बारे में ट्रंप से संपर्क किया है। एसोसिएटेड प्रेस ने भी रविवार को खबर दी कि कुशनर ने राष्ट्रपति से चुनाव नतीजों को स्वीकार करने का अनुरोध किया। फॉक्स न्यूज ने दो सूत्रों के हवाले से कहा कि अगर ट्रंप का चुनाव अभियान बताए जा रहे नतीजे को बदलने में नाकाम रहता है तो वह हार स्वीकार कर लेंगे और सत्ता का शांतिपूर्ण हस्तांतरण करेंगे।
ट्रंप द्वारा हार नहीं स्वीकार करने की स्थिति में भी बाइडेन को 20 जनवरी 2021 में राष्ट्रपति पद संभालने से नहीं रोका जा सकेगा। बाइडेन के अभियान के वरिष्ठ सलाहकार सिमोन सैंडर्स ने संवाददाताओं से कहा कि डोनाल्ड ट्रंप को चुनाव के विजेता का फैसला करने का अधिकार नहीं है। वॉइस ऑफ अमेरिका ने सैंडर्स के हवाले से कहा, “लोग फैसला करते हैं, देश के मतदाता फैसला करते हैं…मतदाताओं ने अपनी पसंद बहुत स्पष्ट कर दी है।” ट्रंप ने एक बयान में कहा था, ”जब तक अमेरिकी जनता के वोटों की ईमानदारी से गिनती नहीं हो जाती, तब तक मैं हार नहीं मानूंगा। वे इसके हकदार हैं और यह लोकतंत्र का तकाजा है।” उन्होंने कहा था कि वह सोमवार से कानूनी लड़ाई भी शुरू करेंगे।

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.