लखनऊ: राजधानी लखनऊ के गोसाईगंज थाना क्षेत्र में महमूदपुर गढ़ी के पशु आश्रय स्थल में रविवार सुबह कुछ पशु मरे हुए पाए गए. मौके पर पहुंचे ग्रामीणों ने जब गोशाला में पशुओं को मरा देखा तो वहां हड़कम्प मंच गया. सूचना पर पहुंची पुलिस और जिला प्रशासन के अधिकारियों ने पशु आश्रय गृह के जानवरों की गिनती कराई तो मौके पर केवल 50 पशु ही मौजूद मिले. जबकि यहां 70 पशु रखे गए थे. हालांकि अधिकारी अभी तक की जांच में केवल दो पशुओं की ही मारे जाने की बात कह रहे हैं. जबकि ग्रामीणों का कहना है की यह संख्या और भी ज्यादा है. फिलहाल पशुओं को फरार बता कर अधिकारी अपनी नाकामी को छुपाने में जुटे हुए हैं.
गोशालाओं में सुरक्षित नहीं पशु
राजधानी लखनऊ के गोसाईगंज थाना क्षेत्र के महमूदपुर गढ़ी गांव में एक गोशाला है. इस गौशाला में 70 पशुओं को रखा गया था. बताया जा रहा है कि, बीती रात प्रतिबंधित मांस के कुछ तस्करों ने यहां के पशुओं की बेरहमी से हत्या करके उनके मांस को उठा ले गए. रविवार सुबह जब गांव के लोग ने पशु आश्रय गृह का दृश्य देखा तो वहां हड़कम्प मच गया. इसके बाद लोगों ने ग्राम प्रधान और पुलिस को घटना की सूचना दी. सूचना मिलने के बाद पुलिस और प्रशासन के अधिकारी आनन-फानन में मौके पर पहुंचे और मामले की जांच में जुट गए. अधिकारियों ने गोशाला में मौजूद जानवरों की गिनती कराई तो वहां केलव 50 पशु मिले.
लीपापोती करने में जुटे अधिकारी
महमूदपुर गढ़ी गांव के पशु आश्रय गृह में पशुओं का बेरहमी से हत्या करके उनके मांस की तस्करी की बात सामने आने के बाद पुलिस और प्रशासनिक अधिकारियों के हाथ-पांव फूल गए. जिसके बाद मौके पर पहुंचे अधिकारी इस मामले में लीपापोती करने में जुट गए. अधिकारियों की मानें तो केवल दो पशुओं की हत्या की गई है. बाकी पशु गोशला का गेट खुला होने के बाद वहां से भाग गए. पशु आश्रय गृह के प्रभारी अनिल कुमार के मुताबिक, शनिवार तक गोशाला में 70 जानवर मौजूद थे, जबकि रविवार को गिनती में केवल 50 जानवर मिले. बाकी क्या हुआ वह नहीं जानते.
आज सुबह सूचना मिली की गोशाला में कुछ पशु मारे गए हैं. जिसके इसकी सूचना पुलिस को दी गई. इस घटना को लेकर पुलिस को तहरीर दे दी गई है और पुलिस मुकदमा भी दर्ज कर रही है. गोशला में केवल 50 पशु ही मिले हैं, जबकि कल यह संख्या 70 थी.
–रामशरण, ग्राम प्रधान
मामले की जांच कराई जा रही है, पशुओं के शव को पोस्टमार्टम के लिए भेजा गया है, अभी तक जो जानकारी आई है उसमें दो पशुओं कि मारे जाने की पुष्टि हुई है.
–भोलानाथ कनौजिया, खंड विकास अधिकारी

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.