लखनऊ: यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ प्रदेश के किसानों, कृषि कार्य में लगे खेतिहारों को फसलोत्पादन में मदद करने के लिए तमाम योजनाएं चला रहे हैं. उन्ही सहायता देने वाली योजनाओं में मुख्यमंत्री कृषक दुर्घटना कल्याण योजना दी किसानों को सामाजिक सुरक्षा देने वाली एक प्रमुख योजना है, जिसे मुख्यमंत्री ने पूरे प्रदेश के किसानों और खेती करने वाले बटाईदारो के लिए भी लागू किया है.
इस योजना के तहत किसानों या बटाईदारों के परिवार के मुखिया की मृत्यु हो जाने पर उन्हें 5 लाख की मदद देने का प्रावधान है. मुख्यमंत्री कृषक दुर्घटना कल्याण योजना का लाभ उन्हें मिलेगा जो मूल रूप से यूपी का निवासी हो उनकी आय का मुख्य साधन कृषि हो. इसके साथ ही उनकी आयु 18 से 70 वर्ष के बीच होनी चाहिए.
मुख्यमंत्री ने कहा कि किसानों द्वारा कृषि कार्य करते समय विभिन्न प्रकार की दुर्घटनाएं हो सकती हैं. इसमें आग में जलने, बाढ़ में बह जाने, आकाशीय बिजली जैसी प्राकृतिक आपदाओं में मृत्यु होने पर पांच लाख रुपये की आर्थिक मदद का दी जाएगी. वहीं विकलांग होने पर दो से तीन लाख का मुआवजा सीधे लाभार्थी के खाते में भेजा जाएगा.
कौन होते हैं बटाईदार
वे किसान जो किसी और की जमीन पर फसल बोते हैं. उसमें आधी लागत लगाते हैं और फसल कटने पर आधा मुनाफा लेते हैं. भारत में बड़ी संख्या में किसान बटाई पर खेती करते हैं.

अब सिर्फ एक प्रतिशत देना होगा मंडी शुल्क
मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने प्रदेश के करोड़ों किसानों को मंडियों में बेहतर सुविधा प्रदान करने व मंडियों में कार्य कर रहे व्यापारियों के प्रोत्साहन के लिए मंडी शुल्क की दर को 2% से घटाकर 1% करने का निर्देश दिया है. निश्चित रूप से इसका लाभ प्रदेश के बड़ी संख्या में किसानों को होगा. बता दें कि केंद्र और प्रदेश सरकार लगातार किसानों की आय बढ़ाने में लगी है. ऐसे में निश्चित रूप से जिस तरह की योजनाएं सरकार चला रही है, इसका लाभ किसानों को जरूर मिलेगा.

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.