अभिनेत्री पूनम पांडे और उनके पति सैम बॉम्बे को गोवा की एक कोर्ट ने जमानत दे दी है, हालांकि दोनों अभी गोवा से बाहर कहीं नहीं जा सकते हैं. पुलिस अधिकारी ने जानकारी देते हुए बताया कि पूनम पांडे और सैम बॉम्बे को तब तक जेल में रखा जाएगा, जब तक दोनों 20,000 प्रति व्यक्ति जमानत की राशि नहीं जमा कर देते. टीओआई की रिपोर्ट के अनुसार, दोनों के अगले छह दिनों तक पुलिस स्टेशन में आकर रोजाना अपनी हाजिरी लगानी होगी.
अश्लील वीडियो शूट का मामला
दरअसल, हाल ही में अपनी गोवा ट्रिप के दौरान अश्लील वीडियो शूट कराने का आरोप लगा था, जिसके चलते पूनम पांडे के खिलाफ गोवा फॉरवर्ड पार्टी की महिला विंग ने उनके खिलाफ एफआई दर्ज कराई थी. इसके साथ ही कैनाकोना पुलिस स्टेशन में एक अज्ञात के खिलाफ एफआईआर दर्ज की गई थी. अब पूनम पांडे अश्लीलता फैलाने के लिए कानूनी मुसीबत में हैं.
पूनम पांडेय पर आरोप है कि एक सरकारी संपत्ति में अनधिकृत रूप से प्रवेश किया और अश्लील वीडियो शूट किया. दक्षिण गोवा जिले के कोनकोना शहर के कई नागरिकों ने इस शूटिंग के लिए सरकारी मशीनरी के दुरूपयोग का आरोप लगाया था. इसके बाद दो पुलिसकर्मी (निरीक्षक तुकाराम चव्हाण और एक कॉन्स्टेबल) को निलंबित कर दिया गया.
इससे पहले एक अधिकारी ने बताया कि उत्तरी गोवा के सिंकरिम में एक पांच सितारा होटल में ठहरीं पांडे को बृहस्पतिवार की दोपहर में कलांगुट पुलिस की एक टीम ने हिरासत में लिया और उन्हें बाद में कानकोना पुलिस को सौंप दिया. कानकोना शहर के चापोली बांध पर शूट के दौरान अश्लीलता को लेकर बुधवार को पांडे के खिलाफ मामला दर्ज किया गया था. बांध का प्रबंधन संभाल रहे जल संसाधन विभाग ने शिकायत की थी.
बृहस्पतिवार को कानकोना के कई बाशिंदों ने उन पुलिस अधिकारियों के खिलाफ कार्रवाई की मांग करते हुए शहर में बंद का आह्वान किया जिन्होंने अभिनेत्री और शूट से जुड़े दल को कथित रूप से सुरक्षा प्रदान की. पुलिस अधीक्षक ने बाद में निरीक्षक तुकाराम चव्हाण और एक कॉन्स्टेबल को निलंबित कर दिया. मामले की जांच की जा रही है.

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.