लखनऊ। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के नेतृत्व वाली भाजपा सरकार भले ही खनन माफियाओं पर शिकंजा कसने की भरपूर कोशिश कर रही हो, लेकिन अवैध खनन पुलिस ही करवा रही है। ये हम नहीं बल्कि राजधानी की बख्शी का तालाब (बीकेटी) और इटौंजा निवासी खुद कह रहे हैं। क्षेत्रीय निवासियों का आरोप है कि खनन माफिया रातों-रात खूब आतंक मचाते हैं। बताया जा रहा है कि खनन माफिया पुलिस और तहसील के प्रशासनिक अधिकारियों की मिलीभगत से रातो रात धरती का सीना चीरकर खोखला कर रहे हैं, लेकिन पुलिस और जिला प्रशासन इससे अंजान बना हुआ है। विश्व हिंदू परिषद लखनऊ के जिला उपाध्यक्ष राम प्रकाश सिंह (एडवोकेट) ने कहा अगर खनन माफियाओं पर कार्रवाई नहीं होगी तो पोल खोल आंदोलन चलाया जायेगा। बीकेटी में हो रहे अवैध खनन की जाँच कराकर एसडीएम नवीन चंद्र ने कार्रवाई की बात कही थी लेकिन कई दिन बीतने के बाद अब उनका सरकारी फोन भी उठाना बंद हो गया है। वह खनन की जिम्मेदारी एडीएम प्रशासन पर डालकर अपना पल्ला झाड़ रहे हैं।
मुख्यमंत्री को दिए गए प्रार्थनापत्र में विश्व हिंदू परिषद लखनऊ के जिला उपाध्यक्ष राम प्रकाश सिंह (एडवोकेट) ने लिखा कि बख्शी का तालाब तहसील क्षेत्र के ग्राम पंचायत सुल्तानपुर में खनन माफिया रितेश सिंह निवासी चिनहट आउटर रिंग रोड का कार्य करावा रहे हैं। आरोप है कि मिट्टी का पटान डालने की अनुमति लेकर महीनों से रातों-रात में कई जेसीबी मशीनों से मिट्टी खनन करके हजारों दम पर मिट्टी क्षेत्र व आसपास के लोगों को निजी कार्य के लिए महंगे दाम पर बेच रहा है। इस अवैध मिट्टी के कारोबार की संपूर्ण जानकारी पुलिस व तहसील के अधिकारियों कर्मचारियों को है। रात 9:00 बजे से सुबह 5:00 बजे तक सड़कों पर पुलिस की सरपरस्ती में मिट्टी लदे डम्पर चलते हैं। आरोप है कि खनन स्थल पर कई हथियारबंद लोग मौजूद रहते हैं। जिनके भय से कोई भी व्यक्ति विरोध नहीं कर पाता। इस संबंध में मुख्यमंत्री को विश्व हिंदू परिषद लखनऊ के जिला उपाध्यक्ष राम प्रकाश सिंह ने पत्र लिखा है। रामप्रकाश ने दूसरे पत्र में लिखा कि पहाड़पुर, परगना महोना में मेन रोड के पास स्थित बड़ा ताल में कई दिनों से खनन माफिया रात में काफी बड़े पैमाने पर खनन कर मिट्टी क्षेत्र के लोगों में महगें दामों पर मिटटी बेच रहे हैं।खनन माफियाओं ने इस तालाब में 15 से 20 फीट तक गहरा गहरी मिट्टी खोद डाली है। पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी बाजपेई ने इसी तालाब का सौंदर्यीकरण कराया था। उन्होंने कहा कि आउटर रिंग रोड के नाम पर मिट्टी खनन की अनुमति आसानी से मिल जाती है। इसी बात का पूरा फायदा खनन माफिया उठा रहे हैं। अवैध खनन की पूरी जानकारी पुलिसकर्मियों को है। बताया जा रहा है केवल 2 मीटर रॉयल्टी की अनुमति लेकर खनन माफिया 12 से 15 फीट गहरी मिट्टी खोदकर धरती का सीना चीर रहे हैं।

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.