लखनऊ: लव जिहाद के खिलाफ कानून बनाने को लेकर सीएम योगी आदित्यनाथ के बयान का अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद ने भी समर्थन किया है. अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष महंत नरेंद्र गिरि ने कहा है कि अब समय आ गया है कि लव जिहादियों के खिलाफ सख्त कानून बनाकर कार्रवाई होनी चाहिए. उन्होंने कहा कि लव जिहादियों को चौराहे पर फांसी दी जानी चाहिए.
अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष ने कहा है कि लव जिहादियों को ऐसा दंड मिले कि उनकी आने वाली पीढ़ियां भी उसे याद रखें. महंत नरेंद्र गिरि ने कहा कि लव जिहाद के विषय को बेहद गंभीरता से लेना चाहिए, क्योंकि यह अपराध की श्रेणी में आता है. लव जिहाद के तहत कुछ मुस्लिम युवक तिलक लगाकर, हाथ में कलावा पहनकर और रुद्राक्ष की माला पहनकर हिंदू बहन-बेटियों को प्रेम के जाल में फंसाते हैं.
शादी कर बाद में देते हैं छोड़
जेहादी गैंग के युवक भोली-भाली बच्चियों को फंसाकर शादी कर जबरन धर्म परिवर्तन का दबाव डालते हैं. इससे हिंदू बहन-बेटियों का पूरा जीवन बर्बाद हो जाता है. कई हिंदू बहन-बेटियों की हत्या हो जाती है या फिर उन्हें छोड़ दिया जाता है. इस तरह की घटनाएं कई बार सामने आ चुकी हैं.
हाईकोर्ट ने भी इसे गलत माना
उन्होंने कहा है कि हाईकोर्ट ने भी अपने एक महत्वपूर्ण फैसले में कहा है कि केवल शादी के लिए धर्म परिवर्तन वैध नहीं. महंत नरेंद्र गिरी ने कहा कि लव जिहाद की बढ़ रही घटनाओं के पीछे कहीं न कहीं एक संगठित गिरोह काम कर रहा है. इसमें मुस्लिम धर्मगुरु और मौलाना भी शामिल होते हैं.
हिंदू बहनों से महंत ने की अपील
उन्होंने बहन-बेटियों से अपील की कि वह अपने माता-पिता द्वारा चुने हुए जीवन साथी से ही विवाह करें. यदि उनका किसी से प्रेम है तो उसके बारे में भी पूरी जानकारी कर लें. परिवार से विचार के बाद ही शादी जैसा महत्वपूर्ण निर्णय लें. उन्होंने कहा है कि पिछले 15-20 सालों में सरकारों ने इस ओर ध्यान नहीं दिया, जिससे लव जिहादियों का मनोबल काफी बढ़ा हुआ है.
संत समाज की सीएम योगी से अपील
अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष महंत नरेंद्र गिरि ने कहा कि संत समाज के साथ ही साथ पूरा हिंदू समाज मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से मांग करता है कि लव जिहाद रोकने के लिए जल्द कठोर कानून बने और हिंदू बहन-बेटियों का जीवन बर्बाद होने से बचाया जा सके.

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.