नयी दिल्ली: देश में करीब तीन माह बाद कोविड-19 के उपचाराधीन मरीजों की संख्या छह लाख के नीचे आई है और यह कुल मामलों का 7.35 प्रतिशत है। केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने शुक्रवार को यह जानकारी दी। साथ ही कहा कि भारत ने कोरोना वायरस संक्रमण के खिलाफ लड़ाई में एक अहम उपलब्धि हासिल की है। आज की तारीख में देश में कुल 5,94,386 मरीज उपचाराधीन हैं। वहीं, छह अगस्त को यह संख्या 5.95 लाख थी।
मंत्रालय ने कहा, ‘‘वर्तमान में उपचाराधीन मरीजों की संख्या संक्रमण के कुल मामलों का केवल 7.35 प्रतिशत है। यह संख्या 5,94,386 है। इस प्रकार से मामले लगातार घट रहे हैं।” विभिन्न राज्यों और केन्द्र शासित क्षेत्रों में उपचाराधीन रोगियों की संख्या अलग-अलग है जो महामारी से लड़ने के उनके प्रयासों और इसमें मिल रही प्रगति की ओर इशारा करती हैं। उपचाराधीन मरीजों के छह लाख से कम होने के साथ ही संक्रमण से ठीक होने की दर देश में 91 प्रतिशत के पार पहुंच गई है।
मंत्रालय ने कहा, ‘‘भारत अभी भी शीर्ष देश है, जहां संक्रमण से ठीक होने वाले लोगों की संख्या सर्वाधिक है। उपचाराधीन रोगियों की संख्या और ठीक हो चुके मरीजों के बीच का अंतर लगातार बढ़ रहा है और आज की तारीख में यह संख्या 6,778,989 है।’’ मंत्रालय ने कहा कि संक्रमण मुक्त होने के नए मामलों में से 80 प्रतिशत10 राज्यों और केन्द्र शासित प्रदेशों से हैं। केरल में एक दिन में ठीक होने वाले लोगों की संख्या 8,000 से अधिक रही, जबकि महाराष्ट्र और कर्नाटक में यह संख्या 7,000 से अधिक रही।
बता दें कि भारत में सात अगस्त को संक्रमितों की संख्या 20 लाख, 23 अगस्त को 30 लाख और पांच सितम्बर को संक्रमितों की संख्या 40 लाख के पार चली गई थी। वहीं, कुल मामले 16 सितम्बर को 50 लाख के पार, 28 सितम्बर को 60 लाख, 11 अक्टूबर को 70 लाख और 29 अक्टूबर को 80 लाख के पार चले गए थे। भारतीय आयुर्विज्ञान अनुसंधान परिषद (आईसीएमआर) के अनुसार 29 अक्टूबर तक कुल 10,77,28,088 नमूनों की कोविड-19 की जांच की गई, जिनमें से 11,64,648 नमूनों का परीक्षण गुरुवार को ही किया गया।

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.