जम्मू: जम्मू-कश्मीर के कुलगाम में कल रात आतंकियों ने तीन बीजेपी कार्यकर्ताओं की हत्या कर दी. मारे गए तीन बीजेपी नेताओं में एक उमर हनान भी थे. आज उनका पार्थिव शरीर जब अंतिम यात्रा पर निकला तो साथ में सैंकड़ों कश्मीरियों का हुजूम भी था. लोग तेज आवाज में आतंक के खिलाफ नारेबाजी कर रहे थे. ये धमकी देने वाले आतंकियों को करारा जवाब भी है.
कश्मीर में आतंक को लेकर कोई खौफजदा नहीं
बीजेपी कार्यकर्ता के जनाजे में शामिल भीड़ से साफ है कि आतंकी संगठन ‘द रेजिस्टेंस फ्रंट’ (टीआरएफ) का मुखौटा लगाकर धमकी देने वाले आतंकी संगठन लश्कर-ए-तैयबा का कश्मीरियों पर कोई असर नहीं दिख रहा है. आतंक को लेकर यहां कोई भी खौफजदा नहीं है. सियासत अपनी जगह, लेकिन हर कश्मीरी अब ये समझने लगा है कि आतंक किसी भी समस्या का समाधान नहीं है और तरक्की का रास्ता भी नहीं.
उमर अब्दुल्ला ने जताया शोक
बीजेपी कार्यकर्ताओं की हत्या पर जम्मू-कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री और नेशनल कॉन्फ्रेंस के नेता उमर अब्दुल्ला ने कहा कि दक्षिण कश्मीर के कुलगाम जिले से भयानक खबर आ रही है. मैं आतंकी हमले में 3 बीजेपी कार्यकर्ताओं की हत्या की निंदा करता हूं. अल्लाह उन्हें जन्नत में जगह दे और उनके परिवारों को इस कठिन समय के दौरान शक्ति दे.
द रेजिस्टेंस फ्रंट’ ने ली हत्या की जिम्मेदारी
बता दें कि लश्कर-ए-तैयबा के मुखौटा संगठन माने जाने वाले ‘द रेजिस्टेंस फ्रंट’ (टीआरएफ) ने इन हत्याओं की जिम्मेदारी ली है. सोशल मीडिया अकाउंट पर डाले संदेश में टीआरएफ ने कहा कि ‘कब्रिस्तान भर जाएंगे.’

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.