नई दिल्ली केंद्र की मोदी सरकार में मंत्री नितिन गडकरी सड़क परिवहन एवं राजमार्ग का जिम्मा संभाल रहे हैं। नितिन गडकरी, नरेंद्र मोदी के उन मंत्रियों में शामिल हैं जिन्हें तेज गति से सर्वोत्तम प्रदर्शन के लिए पहचाना जाता है। उनके नेतृत्व में देश में तेज गति से विभन्न highways का निर्माण हो रहा है। तेज गति से काम करने के लिए पहचाने जाने नितिन गडकरी को अपने मंत्रालय के कुछ अधिकारियों के सुस्त गति से काम करने का तरीका बिलकुल रास नहीं आ रहा है।
दो दिन पहले NHAI के एक नए भवन के उद्घाटन पर नितिन गडकरी अधिकारियों पर जमकर बरसे। दरअसल गडकरी एक इमारत के निर्माण में 9 साल लगने पर नाराज था। उन्होंने इतने सुस्त निर्माण कार्य के लिए जिम्मेदार अधिकारियों पर व्यंग कसते हुए कहा कि ऐसे अधिकारियों की तस्वीर लगानी चाहिए। ऐसे अधिकार NPA हैं, शर्म आती है इनके ऊपर।
उन्होंने कहा, “सोचता हूं आपका अभिनंदन कैसे करूं। दो-ढ़ाई सौ करोड़ का काम – दो सरकारें और आठ चेयरमैन लगे। मुझे शर्म आती है इस बात के लिए। मौजूदा चेयरमैन की गलती नहीं लेकिन पहले वालों की। रिसर्च पुस्तिका बनानी चाहिए उनके निकम्मेपन की और उनकी फोटो लगानी चाहिए, बिल्डिंग में भी उनकी फोटो लगनी चाहिए।”
नितिन गडकरी यहीं नहीं रुके, उन्होंने कहा कि “NHAI में 12/13 सालों से विकृत विचारों के लोग चिपके हैं जो या तो निर्णय नहीं करते या करते हैं तो जटिलता पैदा करने के लिए। निगेटिव और विकृत विचारधारा के अधिकारियों के विचार विषकन्या जैसे हैं। सीजीएम और जीएम की परंपरा निकम्मी और नालायक है।”
उन्होंने कहा कि NHAI के भ्रष्ट, निकम्मे और अक्षम अधिकारी इतने पावरफुल हैं कि मिनिस्ट्री के कहने के बाद भी गलत निर्णय करते हैं। NHAI में ऐसे NPA अधिकारी हैं, जो वर्मी कल्चर (केंचुआ) के लायक भी नहीं, उनको संरक्षित कर बढ़ाया जाता है और बड़ा बनाया जाता है। नितिन गडकरी ने कहा कि ऐसे नकारात्मक, काम नहीं करनेवाले अधिकारियों की धुलाई के अलावा दूसरा कोई रास्ता नहीं। NHAI में गधे और घोड़े के साथ एकसमान व्यवहार होता है। अब ऐसे निकम्मे, नालायक अधिकारियों की मैं बैंड बजाऊंगा।

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.