मेरठ: शहर के ऊपर से इन दिनों रोजाना इंटरनेशनल स्पेस स्टेशन चक्कर काट रहा है. 23 अक्टूबर की सुबह से यह अनोखा नजारा देखने के लिए लोग अपने घरों की छतों पर चढ़ जाते हैं. जानकारों के मुताबिक यह इंटरनेशनल स्पेस स्टेशन 32,000 किलोमीटर प्रति घण्टा की रफ्तार से केवल 418 किलोमीटर की ऊंचाई से गुजर रहा है, जिसे बिना टेलिस्कोप के ही नंगी आखों से देखा जा रहा है.
नासा के नेतृत्व में उड़ान भर रहा इंटरनेशनल स्पेस स्टेशन
खगोल वैज्ञानिकों के मुताबिक मेरठ शहर के ऊपर आसमान में दिखाई दे रहे इंटरनेशनल स्पेस स्टेशन को नासा के नेतृत्व में कई देशों ने मिलकर बनाया है. इसमें विभिन्न देशों के 6 अंतरिक्ष यात्री सवार हैं. इंटरनेशनल स्पेस स्टेशन की रफ्तार 32 हजार किलोमीटर बताई जा रही है. इस गति से यह स्पेस स्टेशन पृथ्वी से 418 किलोमीटर की दूरी पर 90 मिनट में पृथ्वी का एक चक्कर पूरा कर रहा है.

रोजाना मेरठ के आसमान से 6 बार गुजरेगा ISS

खगोल वैज्ञानिक डॉ. दीपक शर्मा ने बताया कि यह स्पेस स्टेशन के 20 अक्टूबर से 26 अक्टूबर के बीच मेरठ शहर के ऊपर से रोजाना छह बार गुजरेजा. हालांकि 25 अक्टूबर को यह स्पेश स्टेशन नहीं गुजरेगा. मेरठ जनपद के खगोल प्रिय एवं जानकार इस नजारे को बिना टेलीस्कोप के ही नंगी आंखों से भी देख सकते हैं. वहीं इस नजारे को देखने के लिए सुबह 4 बजे से ही लोग घर की छतों पर चढ़ जाते हैं. फिलहाल मेरठ वासियों के लिए इस वक्त यह स्पेश स्टेशन आकर्षण का केंद्र बना हुआ है.
दीपक शर्मा ने बताया कि सुबह 4 से 5 बजकर 50 मिनट तक स्पेस स्टेशन मेरठ के आसमान से रोजाना गुजर रहा है. पहली बार इस नजारे को 23 अक्टूबर की सुबह देखा गया है. 6 अंतिरक्ष यात्री इसमें सवार होकर पृथ्वी के आसपास होने वाली खगोलीय घटनाओं का अध्ययन कर रहे हैं. दीपक शर्मा ने बताया कि सभी को इस नजारे को देखना चाहिए और अपने दिमाग की खिड़की को खोलना चाहिए.

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.