मुजफ्फरनगर: अभिनेता नवाजुद्दीन सिद्दीकी की तलाकशुदा पत्नी आलिया सिद्दीकी ने अपने पति के विरुद्ध मुजफ्फरनगर कोर्ट में 164 के बयान दर्ज कराया था, जिसके बाद अब नवाजुद्दीन सिद्दीकी और उनके परिवार ने गिरफ्तारी से बचने के लिए हाईकोर्ट की शरण ली है. उन्होंने स्टे पुलिस द्धारा कोर्ट में चार्जशीट दाखिल करने और न्यायिक हिरासत से बचने के लिए लिया है.
फिल्म अभिनेता नवाजुद्दीन सिद्दकी और उनकी तलाकशुदा पत्नी आलिया सिद्दकी के बीच चल रहा पारिवारिक विवाद सुर्खियों में है. आलिया सिद्दकी के मुजफ्फरगर पोस्को कोर्ट में 164 के बयान दर्ज होने के बाद नवाजुद्दीन और उनके भाइयों ने इलाहाबाद हाईकोर्ट से पुलिस की गिरफ्तारी से बचने के लिए स्टे लिया है.
ये स्टे पुलिस द्धारा कोर्ट में चार्जशीट दाखिल करने और न्यायिक हिरासत से बचने के लिए लिया गया है. बता दें, नवाजुद्दीन सिद्दकी ने 2010 में आलिया सिद्दकी से प्रेम विवाह किया था और 2011 में आलिया और नवाजुद्दीन के बीच आपसी ग्रह क्लेश के चलते तलाक हो गया था.
27 जुलाई 2020 को आलिया ने मुंबई के वर्सोवा पुलिस स्टेशन पर नवाजुद्दीन और उनके भाईयों के खिलाफ संगीन आरोप लगाते हुए मुकदमा दर्ज कराया था और 12 अगस्त 2020 को ये केस मुजफ्फरनगर के बुढ़ाना कोतवाली में ट्रांसफर हो गया था.
आलिया ने एफआईआर में नवाजुद्दीन सिद्दकी, फिजुद्दीन सिद्दकी, अयाजुद्दीन सिद्दकी, मिराजुद्दीन सिद्दाकी और मेहरू निशा को आरोपी बनाया था. पुलिस ने इस मामले में 554, 504, 506 और पोस्को एक्ट में मुकदमा दर्ज कर कानूनी प्रक्रिया शुरू कर दी है.
नवाजुद्दीन सिद्दकी के परिवार की तरफ से पैरवी करने वाले वकील नदीम रजा जैदी ने बताया कि आलिया द्वारा लगाए गए सभी आरोप झूठे हैं. आलिया, नवाजुद्दीन सिद्दकी के साथ उनके परिवार को ब्लैकमेल कर रही है. इसलिए हमने इलाहाबाद हाईकोर्ट से टिल ऑफ द चार्जशीट स्टे लाए हैं. नवाजुद्दीन के भाई फिजुद्दीन का कहना है कि आलिया उनके परिवार को बदनाम कर रही है, वो 30 करोड़ रुपये की मांग कर रही है. रुपये नहीं देने पर आलिया झूठे मुकदमे में फंसाने की धमकी दे रही है.

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.