प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बिहार में राजद सहित विपक्ष पर प्रहार करते हुए आरोप लगाया कि ‘‘बिहार के विकास की हर योजना को अटकाने और लटकाने वाले इन लोगों ने’’ अपने 15 साल के शासन में राज्य को लगातार लूटा और सत्ता को अपनी तिजोरी भरने का माध्यम बनाया।
प्रधानमंत्री ने कहा कि बिहार की जनता भ्रम में नहीं है और उसने आत्मनिर्भरता के लिये नीतीश कुमार के नेतृत्व में राजग सरकार बनाने का मन बना लिया है। यहां एक चुनावी रैली को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री ने आरोप लगाया कि जब बिहार के लोगों ने इन्हें (विपक्ष को) सत्ता से बेदखल कर दिया और नीतीश कुमार को मौका दिया तो ये बौखला गए और इसके बाद 10 साल तक इन लोगों ने संप्रग की सरकार में रहते हुए बिहार पर, बिहार के लोगों पर अपना गुस्सा निकाला।
उन्होंने आरोप लगाया, ‘‘इन लोगों को आपकी जरूरतों से कभी सरोकार नहीं रहा। इनका ध्यान रहा है अपने स्वार्थों पर, अपनी तिजौरी पर।’’ मोदी ने कहा कि यही कारण है कि भोजपुर सहित पूरे बिहार में लंबे समय तक बिजली, सड़क और पानी जैसी मूल सुविधाओं का विकास नहीं हो पाया। उन्होंने कहा, ‘‘आज राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (राजग) के सभी दल मिलकर आत्मनिर्भर, आत्मविश्वासी बिहार के निर्माण में जुटे हैं। बिहार को अब भी विकास के सफर में मीलों आगे जाना है। नई बुलंदी की तरफ उड़ान भरनी है।’’
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपने संबोधन के दौरान बिहार के लोगों को राजद की पूर्ववर्ती सरकार के काल की कानून एवं व्यवस्था की स्थिति की याद दिलाई। मोदी ने कहा, ‘‘ आज बिहार में पीढ़ी भले बदल गई हो, लेकिन बिहार के नौजवानों को ये याद रखना है कि बिहार को इतनी मुश्किलों में डालने वाले कौन थे?’’ उन्होंने कहा कि बिहार के लोग वे दिन भूल नहीं सकते, जब सूरज ढलते का मतलब होता था, सब कुछ बंद हो जाना, ठप पड़ जाना। मोदी ने कहा कि लोग वे दिन नहीं भूल सकते जब सरकार चलाने वालों की निगरानी में दिन-दहाड़े डकैती होती थी, हत्याएं होती थीं और रंगदारी वसूली जाती थी।
उन्होंने कहा कि आज बिजली है, सड़कें हैं और सबसे बड़ी बात वह माहौल है, जिसमें राज्य का सामान्य नागरिक बिना डरे रह सकता है, जी सकता है और अंधेरे से उजाले की ओर बढ़ना इसी को कहते हैं। राजद नेता तेजस्वी यादव के 10 लाख नौकरियों के वादे पर सवाल उठाते हुए मोदी ने कहा कि जिन लोगों ने एक-एक सरकारी नौकरी को हमेशा लाखों-करोड़ों रुपये कमाने का जरिया माना, वे बिहार को ललचाई नजरों से देख रहे हैं। उन्होंने कहा, ‘‘बिहार के नौजवानों को यह याद रखना है कि बिहार को इतनी मुश्किलों में डालने वाले कौन थे? ’’
गौरतलब है कि राजद नेता तेजस्वी यादव अपनी सभी रैलियों में रोजगार और विकास का मुद्दा उठा रहे हैं। मोदी ने कहा, ‘‘मैंने बिहार के बहुत से लोगों के साथ करीब से काम किया है। उनसे बहुत कुछ सीखा भी है। एक बात जो बिहार के लोगों में बहुत अच्छी होती है, वह है उनकी स्पष्टता। वे किसी भ्रम में नहीं रहते।’’ उन्होंने कहा कि बिहार अब विकास की ओर तेजी से बढ़ रहा है, अब बिहार को कोई बीमारू, बेबस राज्य नहीं कह सकता और लालटेन का जमाना चला गया। मोदी ने कहा कि बिहार के लोगों ने मन बना लिया है कि जिनका इतिहास बिहार को बीमारू बनाने का है, उन्हें आसपास भी नहीं फटकने देंगे।
उन्होंने स्थानीय में कहा, ‘‘ लालटेन के जमाना गईल।’’ प्रधानमंत्री ने कहा कि जितने सर्वेक्षण हो रहे हैं, जितनी रिपोर्ट आ रही हैं, सभी में यही सामने आ रहा है कि बिहार में फिर एक बार राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन की सरकार बनने जा रही है। उन्होंने कहा कि राजग सरकार ने बिहार में राष्ट्रीय राजमार्ग के विकास का काम किया। उन्होंने महिलाओं, युवा उद्यमियों और दुकानदारों को बिना गारंटी के ऋण सुविधा देने और प्रधानमंत्री पैकेज लागू करने सहित कई कार्यों का जिक्र किया। उन्होंने अपने संबोधन के दौरान कोरोना वायरस से डटकर मुकाबला करने के लिये बिहार की जनता को बधाई दी। उन्होंने गलवान घाटी और पुलवामा हमले में बलिदान देने वाले बिहार के जवानों को श्रद्धांजलि भी अर्पित की। मोदी ने पूर्व केंद्रीय मंत्री दिवंगत रामविलास पासवान और रघुवंश प्रसाद सिंह को श्रद्धांजलि दी।

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.