अरविन्द केजरीवाल का वाराणसी में मोदी भक्तों ने अंडों से स्वागत किया। मंगलवार वाले दिन काशी में अंडों का जमकर इस्तेमाल हुआ। केजरीवाल सुबह करीब 8.30 बजे वाराणसी पहुंचे। शिवगंगा एक्सप्रेस जैसे ही वाराणसी कैंट स्टेशन पहुंचीए उनके समर्थकों ने केजरीवाल का जबर्दस्त स्वागत किया। केजरीवाल के समर्थक पहले से ही स्टेशन पर मौजूद थे। लेकिन उन्हें यहां विरोध का भी सामना करना पड़ा। काल भैरव मंदिर के बाहर मोदी समर्थकों और आप समर्थकों के बीच आमना.सामना हो गया। दोनों ओर से नारेबाजी हुई। इसी दौरान यहां केजरीवाल की कार पर अंडे भी फेंके गए। अरविंद केजरीवाल का मंगलवार यहां भारतीय जनता पार्टी के कार्यकर्ताओं ने जोरदार विरोध किया और उनके काफिले को रोकने का प्रयास किया। बीजेपी कार्यकर्ताओं ने संकटमोचन मंदिर, काशी विश्वनाथ मंदिर और काल भैरव मंदिर परिसर के निकट नारेबाजी की और उनके काफिले को रोकने का प्रयास किया। पुलिस के हस्तक्षेप से कोई अप्रिय घटना नहीं होने पाई और केजरीवाल ने मंदिरों में दर्शन.पूजन कार्यक्रम सम्पन्न किए। केजरीवाल की मुसीबत यही खत्म नहीं हुई। रोड शो के दौरान लुहरा बीर चौराहे पर उन पर कालिख फेंकी गई। इस दौरान पुलिस को लोगों को काबू करने के लिए लाठीचार्ज भी करना पड़ा।
गंगा में लगाई डुबकी
केजरीवाल ने यहां पहुंचकर सबसे पहले गंगा में डुबकी लगाई। डुबकी लगाने के बाद केजरीवाल ने कहा कि अपने मिशन के लिए उन्होंने मां गंगा का आशीर्वाद मांगा है। उन्होंने कहा कि मोदी से मुकाबला छोटी बात है। इस दौरान यहां मौजूद केजरीवाल समर्थकों ने हर.हर महादेव के नारे बुलंद किए। इसके बाद केजरीवाल काल भैरव के दर्शन के लिए अरविंद राजघाट से निकल गए। उनके साथ आप नेता मनीष सिसोदिया और संजय सिंह भी मौजूद थे। यहीं पर उनका मोदी समर्थकों से आमना.सामना हुआ। काल भैरव मंदिर के बाहर इन लोगों ने केजरीवाल का विरोध किया। यहां मोदी समर्थक और आप समर्थकों में जमकर नारेबाजी भी हुई। उनकी कार पर अंडे भी फेंके गए।
केजरीवाल का विरोध
केजरीवाल अभी बनारस पहुंचे भी नहीं थे कि उससे पहले ही खुद को मोदी समर्थक बताने वालों ने विरोध का बिगुल फूंक दिया। केजरीवाल के विरोध में तख्ती लेकर नारे लगा रहे लोगों ने केजरीवाल से बटला कांड के अपराधियों को निर्दोष बताने के बाबत सवाल पूछा। केजरीवाल से पूछे गए सवालों के जवाब न मिलने पर इन लोगों ने काले झंडे दिखाने की चेतावनी दी है।
भारतीय जनता पार्टी के प्रधानमंत्री पद के उम्मीदवार नरेंद्र मोदी वाराणसी से लोकसभा का चुनाव लड़ रहे हैं। दिल्ली के पूर्व मुख्यमंत्री केजरीवाल ने घोषणा कि है कि 25 मार्च को बनारस में आयोजित रैली के दौरान जनता से राय लेकर फैसला करेंगे कि वह वाराणसी संसदीय सीट से चुनाव लड़ें या नहीं। केजरीवाल के इस घोषणा के बाद से सभी राजनीतिक दलों की निगाहें बेनिया पार्क में होने वाली आप की रैली पर टिकी हुई है। भ्रष्टाचार के खिलाफ मुहिम चलाने वाले सामाजिक कार्यकर्ताओं ने जनता को एक विकल्प देने के लिए एक साल पहले आप का गठन किया था। दिल्ली विधानसभा चुनाव में पहली बार मैदान में उतरी इस नई पार्टी ने 28 सीटें जीती थीं।
arvind_kejriwal0911

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.