उत्तर प्रदेश के हाथ​रस जिले में पिछले महीने एक युवती के साथ हुए सामूहिक बलात्कार और 15 दिनों तक तड़पने के बाद युवती की मौत पर देश स्तब्ध है। ऐसी ही एक वारदात राजस्थान के बारां से भी सामने आई है। राजस्थान के बारां में दो युवतियों ने दो युवकों पर बलात्कार करने का आरोप लगाया है। इस बीच इस मुद्दे पर राजनीति भी शुरू हो गई है। राजस्थान में लड़कियों के साथ बलात्कार की खबरों से विपक्ष ने सरकार को निशाने पर लिया है। इस बीच राज्य के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत का बयान सामने आया है।
बारां की घटना की बात करें तो लड़कियों का आरोप है कि युवक उनको झांसा देकर अलग-अलग शहरों में ले गए और बलात्कार करते रहे। युवतियों की शिकायत के बाद पुलिस ने इस मामले में केस दर्ज किया है। हालांकि पुलिस ने इस केस को लेकर जो जानकारी दी है वह बताती है कि मजिस्ट्रेट के सामने दिए गए बयान में युवतियों ने सहमति के साथ युवकों के साथ जाने की बात कबूली थी।
पुलिस ने पकड़ कर युवकों को छोड़ा
पुलिस के अनुसार 18 से 21 सितंबर तक आरोपी युवक दोनों नाबालिग लड़कियों को कोटा, जयपुर और अजमेर तक ले गए। जहां दोनों के साथ गैंगरेप की घटना को अंजाम दिया गया। आरोपियों ने नाबालिग लड़कियों को पुलिस के सामने कुछ बोलने पर जान से मारने की धमकी भी दी। इस दौरान लड़कों के पकड़े जाने के बावजूद उन्हें छोड़ दिया गया। वहीं, लड़कियों को सखी केंद्र भेजा गया।

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.