लखनऊ। इटौंजा थाने पर पीड़ितों की सुनवाई नहीं हो रही है। पीड़ित थाने के चक्कर काटते रहते हैं लेकिन पुलिस उनकी सहायता करने की बजाय उन्हें थाने से भगा रही है। यह हम नहीं बल्कि सीओ बीकेटी कार्यालय न्याय की गुहार लगाने पहुंची एक किशोरी ने ये बात कही है। किशोरी का कहना है कि वह अपने नाबालिक भाई के साथ खेत में चारा काटने के लिए गई थी उसके खेत में जानवर चर रहे थे। किशोरी ने जब जानवर वहां से भगाए तो दबंगों ने उसका हाथ पकड़ कर खींच लिया, उसके साथ अभद्रता छेड़छाड़ की और पीटने लगे। पीड़िता के शोर मचाने पर उसका भाई जब बचाने के लिए आया तो दबंगों ने उसे भी बुरी तरह से मारा। किसी तरह दबंगों के चंगुल से छूटकर भाई-बहन घर पहुंचे और परिजनों को पूरी बात बताई। इस पर घरवाले शिकायत लेकर थाने पहुंचे तो पुलिस ने उन्हें सहायता करने की वजह भगा दिया। हफ्ते भर से पीड़ित थाने के चक्कर काट रहे हैं लेकिन सुनवाई नहीं हो रही है। इसके बाद न्याय की उम्मीद लेकर किशोरी क्षेत्राधिकारी बीकेटी के कार्यालय सोमवार को पहुंची और प्रार्थना पत्र देकर दबंगों के खिलाफ कार्यवाही की मांग की। यहां से पुलिस ने उसे आश्वासन देकर कर वापस घर भेज दिया। इस संबंध में सीओ हृदेश कुमार कठेरिया ने बताया की मामले की जांच करा कर करवाई की जाएगी।

पुलिस को दी गई तहरीर में 13 वर्षीय किशोरी ने कहा है कि वह ग्राम लालपुर के बीबीपुर की रहने वाली है। पीड़िता का 15 वर्षीय भाई चारा काटने के लिए खेत गया था। उसे वह अपने साथ ले गया था। किशोरी का भाई कुछ दूरी पर चारा काटने लगा और वह अपने खेत की तरफ चली गई। खेत में जानवर फसल चर रहे थे। यह देख उसने उन्हें भगा दिया। जानवर खेत से भगाने पर भगवा खेड़ा निवासी सूरज, लवकुश पुत्रगण गुडडू, ज्ञानी उर्फ अमित पुत्र राम प्रसाद व मोनू पुत्र रामपाल लोगों ने खेत की तरफ आए। खेत में फसल चर रहे जानवरों को भागने पर इन लोगों ने किशोरी का हाथ पकड़ कर खींच लिया गली गलौज करते हुए अश्लील हरकतें करते हुए छेड़छाड़ करने लगे। किशोरी चिल्लाई तो उसका भाई मौके पर पहुंचा तो दबंगों ने दोनों लोगों को बेरहमी से पीटा। पिटाई में दोनों गंभीर रूप से घायल हो गए। दबंग जान से मारने की धमकी देकर फरार हो गए। किशोरी ने बताया कि भाई बहन ने घर जाकर पूरी बात बताई तब तक दबंग अन्य लोगों के साथ दोबारा आ गए और लाठी डंडा, फरसा, हथियारों के साथ पीटने लगे। इस दौरान पीड़िता के घरवालों ने उसका वीडियो भी बना लिया। इस संबंध में पीड़िता के परिजनो ने थाने पर सूचना दी। लेकिन पुलिस मौके पर नहीं गई। सप्ताह भर से थाने के चक्कर काट रही पीड़िता ने क्षेत्राधिकारी से न्याय की गुहार लगाई। अब देखने वाली बात होगी उसे न्याय मिल पाता है या नहीं।

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.