श्रीनगर : पाकिस्तान रेंजर्स की गोलीबारी की आड़ में भारी मात्रा में हथियारों से लैस पांच आतंकवादियों की जम्मू-कश्मीर के सांबा जिले में अंतरराष्ट्रीय सीमा के रास्ते भारत में घुसपैठ की कोशिश को सीमा सुरक्षा बल (बीएसएफ) के जवानों ने नाकाम कर दिया. बल के एक प्रवक्ता ने रविवार को बताया कि बीएसएफ की ओर की गई जवाबी कार्रवाई की वजह से पांचों आतंकवादी वापस पाकिस्तानी क्षेत्र में लौट गए. उन्होंने कहा कि गत एक पखवाड़े में सांबा जिले में सीमा के रास्ते घुसपैठ की यह दूसरी असफल कोशिश थी.
प्रवक्ता ने बताया कि 26-27 सितंबर की रात बीएसएफ के जवानों ने आतंकवादियों के समूह की गतिविधियां देखीं, जो सीमा पार से इस ओर आने की कोशिश कर रहे थे. उन्होंने बताया कि बीएसएफ के जवानों ने जब चुनौती दी तो घुसपैठियों ने गोलीबारी शुरू कर दी. अधिकारियों ने बताया कि घटना घगवाल सेक्टर के इलाके में मंगू चक सीमा चौकी (बीओपी) के पास शनिवार देर रात करीब 11 बजकर 45 मिनट पर हुई तथा भारत और पाकिस्तान के जवानों के बीच छोटे हथियारों से करीब आधे घंटे तक गोलीबारी हुई.
बीएसएफ के प्रवक्ता ने कहा कि अंधेरे और सरकंडों की घनी झाड़ियों का फायदा उठाकर भारी मात्रा में हथियारों से लैस आतंकवादियों के समूह ने भारतीय सीमा में दाखिल होने की कोशिश की. जब बीएसएफ के जवानों ने चुनौती दी, तो उन्होंने गोलीबारी शुरू कर दी. पाकिस्तानी रेंजर्स ने उनकी मदद करने के लिए भारतीय चौकियों पर गोलीबारी शुरू कर दी. हालांकि, बीएसएफ की समन्वित और प्रभावी गोलीबारी से वे वापस भाग गए.
उन्होंने बताया कि आतंकवादियों के समूह द्वारा इसी तरह की घुसपैठ की नाकाम कोशिश सांबा सेक्टर में ही 14-15 सितंबर की रात को भी की गई थी. इससे पहले बीएसएफ के अधिकारी ने बताया कि तड़के इलाके में बड़ा तलाशी अभियान शुरू किया गया, ताकि यह सुनिश्चित किया जा सके कि वहां कोई संदिग्ध गतिविधि तो नहीं है. अधिकारी ने कहा कि तलाशी अभियान जारी है, लेकिन अब तक कुछ बरामद नहीं हुआ है. गौरतलब है कि, गत हफ्तों में जम्मू-कश्मीर में लगातार संघर्ष विराम उल्लंघन के बीच अंतरराष्ट्रीय सीमा और नियंत्रण रेखा के पास ड्रोन के जरिए हथियारों तथा मादक पदार्थों की तस्करी के प्रयास किए गए हैं.

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.