कोलकाता/नई दिल्ली: राष्ट्रीय जांच एजेंसी (NIA) ने केरल के एनाकुलम और पश्चिम बंगाल के मुर्शिदाबाद में कई जगहों पर छापेमारी कर पाकिस्तान द्वारा प्रायोजित अल-कायदा के 9 आतंकवादियों को गिरफ्तार किया है। NIA को पश्चिम बंगाल और केरल सहित भारत के विभिन्न स्थानों पर अल-कायदा के गुर्गों के एक अंतर-राज्य मॉड्यूल के बारे में जानकारी मिली थी, जिसके बाद शनिवार सुबह इन्हें गिरफ्तार किया गया।
NIA ने 6 आतंकवादियों को पश्चिम बंगाल से गिरफ्तार किया है और तीन आतंकियों की केरल से गिरफ्तार किया है।  अल-कायदा इन आतंकवादियों के जरिए भारत में महत्वपूर्ण प्रतिष्ठानों पर हमले करने की योजना बना रहा था। इनका उद्देश्य निर्दोष लोगों को मारना और उनके दिमाग में आतंक का खोफ बैठाना था। लेकिन, NIA ने इनके नापाक मंसूबों पर पानी फेर दिया। NIA ने इस संदर्भ में 11 सितंबर को केस दर्ज कर जांच शुरू की थी।
NIA ने गिरफ्तार किए गए आतंकियों के पास से बड़ी मात्रा में डिजिटल डिवाइसेस, दस्तावेज, जिहादी साहित्य, धारदार हथियार, देसी तमंचे, एक स्थानीय रूप से निर्मित शरीर कवच, घर में विस्फोटक उपकरण बनाने में इस्तेमाल में आने वाले लेख जब्त किए हैं। प्रारंभिक जांच के अनुसार, इन्हें सोशल मीडिया पर पाकिस्तान स्थित अल-कायदा आतंकवादियों द्वारा कट्टरपंथी बनाया गया था और राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र सहित कई स्थानों पर हमले करने के लिए प्रेरित किया गया था।
यह लोग सक्रिय रूप से फंड जुटाने का काम कर रहे थे। इसके अलावा गिरोह के कुछ सदस्य हथियारों और गोला-बारूद की खरीद के लिए नई दिल्ली भी जाने वाले थे। गिरफ्तार किए आतंकियों में से मुर्शिद हसन, इयाकूब बिसवास और मुसर्रफ होसेन केरल के एनाकुलम के रहने वाले हैं जबकि नजमस साकिब, अबू सूफियान, मैनुल मोंडल, लियू येन अहमद, अल ममुन कमाल और अतितुर रेहमान पश्चिम बंगाल के मुर्शिदाबाद के रहने वाले हैं। यह गिरफ्तारियां देश के विभिन्न हिस्सों में संभावित आतंकी हमलों से पहले की गई हैं।

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.