कन्नौज: कोरोना काल में जिले में पुलिस लाइन रोड स्थित सेंट जेवियर्स स्कूल में अस्थायी जेल बनाई गई थी. इस अस्थायी जेल की खिड़की काटकर कैदी फरार हो गया. दरअसल, कोरोना के चलते कैदियों को जेल भेजने से पहले अस्थायी जेल में क्वारंटाइन किया जाता है.
फरार कैदी का नाम प्रमोद है, जिसे कुछ दिन पहले तालग्राम पुलिस ने असलहे बेचने के आरोप में गिरफ्तार किया था. सूचना पर पहुंचे जेल अधीक्षक ने घटना की जांच शुरू कर दी है. जानकारी पाकर डीएम और एसपी भी मौके पर पहुंचे हैं.
कोरोना संक्रमण कन्नौज जिला जेल में न पहुंचे.  इसके लिए सेंट जेवियर्स स्कूल में प्रशासन ने अस्थाई जेल बनाई थी. पकड़े जाने के बाद इस अस्थाई जेल में 14 दिनों के लिए बंदियों को क्वारंटाइन किया जाता है. इसके बाद उन्हें अनौगी स्थित जिला जेल भेजा जाता है.
यहां तालग्राम थाना पुलिस ने पिछले दिनों अवैध असलहा बेचने के आरोप में प्रमोद नाम के युवक को पकड़ा था, जिसे जिला जेल भेजने से पहले अस्थाई जेल में क्वारंटाइन किया गया था.
सोमवार को उसने मौका पाकर अस्थाई खिड़की तोड़ दी और भाग निकला. सुबह जब ड्यूटी पर तैनात पुलिस कर्मियों को इसकी भनक लगी तो उनके होश फाख्ता हो गए. इसके बाद पुलिस कर्मियों ने अपने उच्चाधिकारियों को मामले की सूचना दी.
मामले की सूचना पाकर आनन-फानन में मौके पर डीएम राकेश कुमार और एसपी अमरेंद्र प्रसाद सिंह पहुंचे. उन्होंने ड्यूटी पर तैनात पुलिस कर्मियों की फटकार लगाई और फरार बंदी को खोज निकालने के निर्देश दिए.
फिलहाल पुलिस कर्मी बंदी की तलाश में जुट गए हैं.  इस मामले को लेकर कोतवाल विकास राय ने बताया कि प्रमोद नाम का बंदी भाग निकला है. फरार बंदी की तलाश की जा रही है.

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.