नई दिल्ली। .बैंकिंग सेवाओं को और आसान बनाने के लिए वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण (Finance Minsiter Nirmala Sitharaman) ने डोर स्टेप बैंकिंग सर्विस (Doorstep Banking Service) की शुरुआत की। वित्त मंत्री ने सरकारी बैंकों की डोरस्टेप बैंकिंग सेवा की शुरुआत के साथ ही सरकारी बैंकों के ग्राहकों को बड़ी सुविधा दी है। इस सेवा के शुरुआत के सात ही अब आपके घर तक बैंकिंग सर्विसेज पहुंचेगी।
क्या है डोरस्टेप बैंकिंग सर्विस
वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण द्वारा बुधवार को सरकारी बैंकों के लिए डोरस्टेप बैंकिंग सर्विस शुरू की गई। इस नई सर्विस के बाद अब सरकारी बैंकों (Government Banks) के ग्राहक अपने घर बैठे बैंकिंग सेवाओं का लाभ उठा सकेंगे। चाहे आपको बैंक खाते में पैसा जमा करना होगा या पैसा निकलना हो, चाहे चेक से जुड़ा आपका काम हो या फिर कोई और बैंकिंग सर्विस हो, आप घर बैठे-बैठे डोरस्टेप सर्विस की मदद से बैंकों की सेवा ले सकेंगे। हालांकि डोरस्टेप सर्विस के लिए आपको चार्ज देना होगा।
इस तरह से ग्राहकों तक सेवा पहुंचाएंगे बैंक
डोरस्टेप सर्विस के लिए बैंकों ने एक कॉमन सर्विस प्रोवाइडर रखा है, जो बैंकों से ग्राहकों को जोड़ते हुए उन तक सर्विस पहुंचाएंगे। पहले इस सर्विस को वरिष्ठ नागरिकों और दिव्यांगों के लिए शुरु करने की तैयारी थी, लेकिन कोरोना संक्रमण को देखते हुए इसे आम नागरिकों के लिए शुरु कर दिया गया है। आपको डोरस्टेप सर्विस के लिए बैंकों के वेब पोर्टल, मोबाइल ऐप या फिर कॉल सेंटर पर फोन करके जानकारी देनी होगी।
कब से शुरू होगी डोरस्टेप बैंकिंग सर्विस
वित्त मंत्री ने बुधवार को इस सेवा का उद्घाटन किया। इस सेवा की शुरुआत अगले महीने से होगी। मामूला चार्ज देकर आप अपने घर बैठे-बैठे बैंक खाते में कैश जमा और निकाल सकते हैं। वहीं चेक, डिमांड ड्राफ्ट, पे ऑर्डर पिक एंड ड्रॉप करवा सकते हैं।

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.